सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
मानसून के दौरान गांवों में स्वच्छता कैसे बनाए रखें!
मानसून के दौरान स्वच्छता को अपनाने के साथ-साथ गाँव के वातावरण को साफ रखना भी आवश्यक है। गाँव के वातावरण को स्वच्छ रखे बगैर हम स्वच्छता को अपनी शैली नहीं बना पाएँगे। उदाहरण के लिए हम लोग अपने घरों को साफ रखते हैं लेकिन कूड़ा सड़कों पर फेंक देते हैं। घर से निकलने वाले पानी को सोकेज (सोख्ता) बनाकर पानी को नहीं रोकते हैं, जिससे पानी बाहर बहता है। छोटे बच्चे अपने घर के बाहर सार्वजनिक नालियों या सड़कों पर शौच करते हैं। गाँव की नालियाँ कीचड़- पानी से भरी रहती हैं। बाजार, विद्यालय तथा सार्वजनिक स्थानों पर कूड़े इत्यादि का ढेर लगा रहता है। इसके अलावा सार्वजनिक जल स्रोतों पर कीचड़ का ढेर स्वास्थ के लिए खतरा है। गाँव में नालियों का अभाव पानी का जमाव के कारण मच्छरों के लिए प्रजनन आसान कर देता है और मलेरिया तथा डेंगू बुखार फैलने की सम्भावना को बढ़ावा देता है। इसलिए हमें वातावरण साफ रखना चाहिए। याद रखने वाली बातें:- 1. नियमित रूप से अपने गाँव की सफाई करें। 2. नालियाँ साफ रखें। 3. सड़कों पर न थूकें। 4. खुले में शौच न करें बल्कि शौचालय का प्रयोग करें। 5. मानव मल तथा पशुमल का सुरक्षित निपटान करें।
स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
1
0
संबंधित लेख