योजना और सब्सिडीकृषि जागरण
किसानों के लिए खुशखबरी, किसान क्रेडिट कार्ड पर मिलेगी ये छूट!
देश के किसानों की सहायता के लिए सरकार नई – नई योजनाएं चलाती रहती है। उन्हीं में से एक किसान क्रेडिट कार्ड भी है। केसीसी के जरिए किसानों को 1 लाख 60 हजार रुपये का लोन बिना गारंटी के दिया जाता है। वहीं, किसान KCC के अंतर्गत 3 साल में 5 लाख रुपये तक का एग्रीकल्चर लोन ले सकते हैं। इस कार्ड पर ब्याज दर 4 फीसदी सालाना है। गौरतलब है कि हाल ही में 7 करोड़ किसानों को बड़ी राहत देते हुए केसीसी पर लिए गए एग्री लोन के भुगतान की तारीख आगे बढ़ाकर 31 अगस्त कर दिया गया है। क्योंकि आरबीआई ने इसकी छूट दे दी है। इससे किसानों का क्या फायदा होगा दरअसल सरकार द्वारा दी गई राहत की वजह से 6 महीने बाद भी किसान केसीसी कार्ड के ब्याज को सिर्फ 4 प्रतिशत प्रति वर्ष के पुराने रेट पर ही भुगतान कर सकते हैं। कोरोना वायरस लॉकडाउन में किसानों को राहत देने के लिए यह निर्णय लिया गया है। 2.5 करोड़ किसानों को क्रेडिट कार्ड देने की योजना सरकार ने पीएम किसान योजना का लाभ उठा रहे 2.5 करोड़ किसानों को क्रेडिट कार्ड देने का फैसला किया है। क्रेडिट कार्ड से मिलने वाले कर्ज की ब्याज दर काफी कम होगी। सरकार इस वित्त वर्ष में 2 लाख करोड़ रुपये का सस्ता कर्ज किसानों को बांटने जा रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक पैकेज के तहत इसका ऐलान किया था। किसान क्रेडिट कार्ड योजना से किसानों की मदद किसान क्रेडिट कार्ड वास्तव में जरूरत के समय आपके कुछ जरूरी घरेलू खर्चों को पूरा करने में आपकी मदद कर सकता है। हालांकि, केसीसी योजना जो छोटे ऋणों के लिए किसानों को ऋण प्रदान करती है, मुख्य रूप से फसलों से संबंधित उनकी वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए है। लेकिन, इसका कुछ हिस्सा अब उनके द्वारा घरेलू जरूरतों को पूरा करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। किसान क्रेडिट कार्ड का घरेलू जरूरतों में मदद? घरेलू उपयोग के लिए केसीसी योजना के तहत अल्पावधि सीमा के 10% का उपयोग किसान कर सकते हैं। भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी वित्तीय शिक्षा (किसानों के लिए) अनुभाग के तहत इस संबंध में अपनी वेबसाइट पर जानकारी डाल दी है। दरअसल भारतीय रिजर्व बैंक ने जानकारी देते हुए कहा है कि अब देशभर के किसान अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल घर की जरूरतों को पूरा करने के लिए कर सकते हैं। आम तौर पर किसान क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल फसल को तैयार होने वाले खर्चों को पूरा करने के लिए किया जाता है। लेकिन कुल राशि का 10 फीसदी किसान घर में भी कर सकते हैं।
स्रोत:- कृषि जागरण प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
79
6
संबंधित लेख