आज का सुझावग्रीन टीवी
धान में भूरा फुदका का नियंत्रण!
धान की फसल में मुख्य रूप से हरा फुदका, धान का भूरा फुदका और धान का सफेद पीठ वाला फुदका से प्रभावित होती है। निम्फ और वयस्क पौधों से रस चूसते हैं और इनसे ग्रसित फसल (हॉपर बर्न) जली हुए प्रतीत होती हैं। एकीकृत कीट प्रबंधन (आईपीएम) : 1. नाइट्रोजन की अधिकता कीट प्रकोप को बढ़ाती है, पर पोटास की उपलब्धता प्रकोप में कमी लाती है, अत: सन्तुलित उर्वरकों का ही प्रयोग करें। 2. जल्दी पकने वाली किस्मों को लगाना चाहिए। 3. मिट्टी में कार्बोफ्यूरान 3 जी @25 किग्रा या फिप्रोनिल 0.3 जीआर @20-25 किग्रा या क्लोरेंट्रानिलिप्रोएल 0.5% + थायमेथोक्जाम 1% जीआर @6 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर की दर से दें।
स्रोत:- ग्रीन टीवी इंडिया, यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
8
3
संबंधित लेख