कृषि वार्ताLive हिंदुस्तान.com
पीएम मोदी ने लॉन्च किया आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान !
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान की शुरुआत की। आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान का लक्ष्य रोजगार प्रदान करने, स्थानीय स्तर पर उद्यमिता को बढ़ावा देने और रोजगार के मौके उपलब्ध कराने के लिए औद्योगिक संगठनों और अन्य संस्थानों को साथ जोड़ना है। पीएम मोदी ने प्रदेश के छह जिलों के ग्रामीणों से संवाद किया। राज्य के सभी जिलों के ग्रामीण साझा सेवा केन्द्र और कृषि विज्ञान केन्द्रों के जरिए इस अभियान के उद्घाटन के साक्षी बने। प्रधानमंत्री ने कहा, 'श्रम की ताकत हम सभी ने महसूस की है। श्रम की इसी शक्ति को आधार बनाकर भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान शुरू किया गया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज जब दुनिया में कोरोना का इतना बड़ा संकट है, तब उत्तर प्रदेश ने जो साहस दिखाया, जो सूझबूझ दिखाई, जो सफलता पाई, जिस तरह कोरोना से मोर्चा लिया, जिस तरह स्थितियों को संभाला, वो अभूतपूर्व है, प्रशंसनीय है। कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने कोरोना काल में अपने प्रदेश लौटे कई श्रमिकों से बातचीत की। एक श्रमिक से पीएम मोदी ने कहा कि आपने आपत्ति को अवसर में बदल दिया है। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने राज्य के छह जिलों के ग्रामीणों से बातचीत की। कोरोना वायरस के परिप्रेक्ष्य में सामाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों के गांव सामान्य सुविधा केंद्रों व कृषि विज्ञान केंद्रों के माध्यम से इस कार्यक्रम जुड़े। अभियान की शुरुआत से पहले पीएम मोदी का ट्वीट अभियान की शुरुआत करने से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट किया, 'थोड़ी देर में मैं आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान की शुरुआत करूंगा। इसके तहत प्रवासी कामगारों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के साथ-साथ स्थानीय उद्यमिता को बढ़ावा दिया जाएगा।' एक करोड़ से ज्यादा श्रमिकों को काम उत्तर प्रदेश के 31 जिलों को इस योजना के तहत शामिल किया गया है और राज्य सरकार इस अवसर का उपयोग श्रमिकों के कल्याण के लिए कर रही है। 25 श्रेणियों के काम पर ध्यान देने के साथ विभिन्न विभागों को काम देने का लक्ष्य रखा गया है और 1.25 करोड़ श्रमिकों को काम मिलेगा। वहीं, इसमें प्रति दिन 60 लाख श्रमिकों को काम दिया जाएगा। स्रोत:- लाइव हिंदुस्तान.कॉम, 27 जून 2020, प्रिय किसान भाइयों आज की कृषि वार्ता दी गई जानकारी यदि आपको उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने सभी किसान मित्रों के साथ शेयर करें।
10
0
संबंधित लेख