कीट जीवन चक्रतमिलनाडु एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी
भिंडी की फसल में फल छेदक कीट कैसे गुजारता है अपना जीवन!
इस कीट की सुंडी पौधों पौधों को नुकसान पहुंचा कर जीवन निर्वाह करती हैं, जिसमें खेती की कई फसलें भी शामिल हैं। आइए इस कीट के बारे में गहराई से जानें। क्षति के लक्षण: सूंडी फूलों को खाती है। यह फलों पर गोलाकार छेद बनाती है सूंडी फल के अंदर घुस कर गूदे और बीजों को खाकर नुकसान पहुँचती है। कीट की पहचान: इस कीट के अंडे आकार में गोलाकार होते हैं और मलाईदार सफेद रंग के होते हैं। सुंडी हरे से भूरे रंग में भिन्न दिखाई देती है। कृमिकोष का रंग भूरा होता है। मिट्टी, पत्तियों और फलियों में होता है। प्रौढ़: मादा भूरी पीली एवं पतंगा नर :"V" के आकार के निशान के साथ हल्के हरे रंग का होता है। प्रबंधन: संक्रमित फलों को इकट्ठा करके नष्ट करें। अण्डों को खत्म करने के लिए हेलिकोवर्पा वयस्कों को आकर्षित करने के लिए गेंदा और टमाटर की बुवाई 1:10 पंक्तियों में लगाएं। फेरोमोन ट्रैप @ 6 / एकड़ स्थापित करें। कार्बेरिल 50 डब्ल्यूपी @2 ग्राम/लीटर या बैसिलस थुरिंगिएन्सिस 2 ग्राम/लीटर का छिड़काव करें। फलों की तुड़ाई के समय कीटनाशक का छिड़काव न करें।
स्रोत:- तमिलनाडु एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी_x000D_ इस लेख में दी गई जानकारी यदि आपको उपयोगी लगे तो लाइक करें एवं अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें।
1
0
संबंधित लेख