कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
पंजाब को पीछे छोड़ मध्य प्रदेश बना गेहूं खरीद में नंबर वन!
गेहूं की सरकारी खरीद में मध्य प्रदेश, पंजाब को पिछे छोड़ नवंर वन पर पहुंच गया है। राज्य से गेहूं की खरीद बढ़कर 127.67 लाख टन पर पहुंच गई है जोकि कुल खरीद की 33 फीसदी है। बीते वर्ष की तुलना में राज्य से खरीद 74 फीसदी अधिक हुई है। मुख्यमंत्री ने इस उपलब्धि के लिए खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की टीम और प्रदेश के किसानों को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि खुशी और गर्व का क्षण। किसानों के श्रम का सुखद परिणाम। प्रदेश में 127.70 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी। पंजाब को पीछे छोड़ते हुए देश में सबसे ज्यादा गेहूं खरीदी करने वाला राज्य मध्यप्रदेश बन गया। अन्नदाता, संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों और प्रदेश को बधाई। राज्य से चालू रबी में समर्थन मूल्य पर 100 लाख टन गेहूं की खरीद का लक्ष्य था पिछले रबी सीजन में राज्य से 73.69 लाख गेहूं की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की गई थी। राज्य सरकार के अनुसार अभी तक 14 लाख 19 हजार किसानों के खातों में 20 हजार 253 करोड़ रुपये की राशि भेजी जा चुकी है। राज्य से चालू रबी में समर्थन मूल्य पर 100 लाख टन गेहूं की खरीद का लक्ष्य तय किया गया था। कोरोना वायरस के कारण मध्य प्रदेश से गेहूं की खरीद 15 अप्रैल से शुरू हो पाई थी। राज्य सरकार ने अनुसार सबसे बड़ी चुनौती ज्यादा किसानों से कम अवधि में ज्यादा गेहूं की खरीदइ करना था। इसके लिए पिछले वर्ष खरीद केन्द्रों की संख्या 3 हजार 545 को बढ़ाकर 4 हजार 529 केन्द्र किए गये। कुल खरीदे गए गेहूं में से 118 लाख टन का परिवहन कर सुरक्षित भंडारण भी किया जा चुका है, जो कि खरीद की मात्रा का लगभग 95 फीसदी है। स्रोत:- आउटलुक एग्रीकल्चर, 8 जून 2020 प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी यदि आपको उपयोगी लगे, तो इसे लाइक करें और अपने सभी किसान मित्रों के साथ शेयर करें।
39
0
संबंधित लेख