AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
05 Jan 20, 07:00 AM
योजना और सब्सिडीसरकारी योजना
हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2020
हरियाणा सरकार ने किसानों के लिए भावांतर भरपाई योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत किसान को बागवानी उत्पादकों के लिए मण्डी में उनके उत्पादक के कम दाम मिलने पर राज्य सरकार या तो मुआवजा या फिर कीमत घाटे की भरपाई प्रदान करेगी। यह भावांतर भरपाई योजना किसानों को उनकी फसलों की विविधता में सहायता करने के साथ-साथ निश्चित न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करके उनके घाटे को कम करने में मदद करेगी।
इस सरकारी योजना का लाभ उठाने के लिए सभी किसानों को fasalhry.in की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण, जाँच, अपील लाइनें केवल निश्चित समय के लिए खुली हैं तथा सभी किसान निर्धारित तारीखों को इस वेबसाइट पर देख सकते हैं। इसलिए, किसानों को इसी समय के दौरान ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा। प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने के लिए किसानों को अपनी फ़सलों को J-फॉर्म के साथ बेचना होगा और फिर इसे फॉर्म को भावांतर भरपाई योजना पोर्टल पर अपलोड करना होगा। बाद में, राज्य सरकार मुआवजे की राशि 15 दिनों के भीतर किसानों के आधार कार्ड से जुड़े बैंक खाते में सीधे जमा कर देगी। किसानों को पंजीकरण के लिए क्या करना है? 1. बीज बोने की अवधि के दौरान, सभी किसानों को बागवानी विभाग के भावांतर भरपाई योजना e-पोर्टल अथवा हरियाणा राज्य विपणन बोर्ड (HSAMB) की वेबसाइट पर पंजीकरण करवाना अनिवार्य है। 2. उद्यान विभाग द्वारा पंजीकृत किसानों का क्षेत्र प्रमाणीकरण। 3. यदि एक किसान प्रमाणित क्षेत्र से असंतुष्ट है, तो अपील दायर करने का भी प्रावधान है 4. निर्माता / विनिर्माण के लिए नि: शुल्क पंजीकरण। 5. ये सभी पंजीकरण उपर्युक्त समय सीमा के लिए खुला रहेगा। 6. सामान्य सेवा केंद्र / ई-दीशा केंद्र / मार्केटिंग बोर्ड / बागवानी विभाग / कृषि विभाग और इंटरनेट कियोस्क पंजीकरण सुविधा प्रदान करेंगे। 7. पंजीकरण, जाँच, अपील जारी करना, बिक्री अवधि उपर्युक्त तिथियों के भीतर मान्य है। स्रोत: सरकारी योजना https://sarkariyojana.com/bhavantar-bharpayee-yojana-online-registration-farmers-haryana यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
12
0