AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
27 Jul 19, 06:00 PM
कृषि वार्ताकृषि जागरण
पहली बार टमाटर, बैंगन के लिए फसल बीमा
छत्तीसगढ़ में पहली बार टमाटर, बैंगन, अमरूद, केला, पपीता, मिर्च की खेती करने वाले किसानों को फसल बीमा योजना के दायरे में शामिल किया गया है। छतीसगढ़ सरकार द्वारा चालू खरीफ मौसम में उद्यानिकी फसलों के लिए पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना को लागू किया गया है। इस फसल बीमा योजना में शामिल होने की अंतिम तारीख 30 जुलाई है, इस योजना के लिए अधिकतम देय प्रीमियम बीमित राशि का मात्र 5 प्रतिशत ही किसानों को प्रीमियम के रूप में देना होगा। बाकी शेष प्रीमियम राशि 50-50 प्रतिशत के मान से केंद्र और राज्य की सरकार के जरिए वहन कर लिया जाएगा। बारिश के दिनों में जब तीन से चार दिनों तक मौसम पूरी तरह से खराब रहता है और आसमान में बदली छाई रहती है। तब इसके सहारे टमाटर, बैंगन के अलावा लाल मिर्च की खेती को भी काफी नुकसान पहुंचता है। फसल बीमा योजना के दायरे में शामिल हो जाने के बाद किसानों को काफी राहत मिलेगी। स्रोत- कृषि जागरण, 24 जुलाई 2019
खास बात यह है कि बुदेलखंड में अभी तक हल्दी की खेती को लेकर किसी भी तरह का कोई प्रयोग नहीं हुआ है। किसान देवेंद्र कुसमारिया ने बुंदेलखंड में पहली बार हल्दी की खेती की है। तीन साल पहले देवेंद्र महाराष्ट्र जलगांव के राबेर घूमने गए थे जहां पर उन्होंने हाईटैक हल्दी की खेती को देखा और कुछ मात्रा में वहां से हल्दी के बीज लेकर आए। वापस आकर उन्होंने बीज को अपने खेत में लगाया तो उनको हल्दी के बेहतर परिणाम मिले। स्रोत – कृषि जागरण, 3 जुलाई 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
5
0