कृषि वार्ताकृषि जागरण
पान की खेती पर 50 फीसदी सब्सिडी
पान की खेती नगदी की फसल मानी जाती है। उत्तर प्रदेश सरकार पान की खेती पर किसानों को 50 फीसदी सब्सिडी दे रही है। 500 वर्ग मीटर के बरेजे (पान के खेत) की औसतन लागत 50 हजार रुपये आती है। इस हिसाब से किसानों को पच्चीस हजार रूपए की अनुदान राशि दी जाएगी। उद्यान विभाग के अधिकारियों ने बांदा जिले के इकलौते पान उत्पादन करने वाले गांव 'बरईमानपुर' में किसानों को इस योजना की जानकारी दी।
बरईमानपुर गांव में करीब डेढ़ दशक पहले तक बड़े पैमाने पर पान की खेती होती थी, लेकिन सिंचाई समस्या व घाटे की वजह से किसानों ने पान की खेती करना छोड़ दिया। अब बरईमानपुर गांव में पान की खेती को पुनर्जीवित करने के लिए सरकार सब्सिडी दे रही है। 'राष्ट्रीय कृषि विकास योजना' के अंतर्गत 'पान विकास प्रोत्साहन योजना' से वित्तीय वर्ष 2018-19 में 30 किसानों को प्रति किसान 25,226 रुपये का अनुदान दिया जाएगा। बरेजे की कुल लागत 50,453 रुपये निर्धारित है। इसके लिए किसानों को कृषि विभाग की वेबसाइट पर ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा। 'पहले आओ-पहले पाओ' के आधार पर किसानों का चयन होगा। _x000D_ स्रोत – कृषि जागरण, 15 जनवरी 2019
4
0
संबंधित लेख