कृषि वार्तादैनिक भास्कर
वैज्ञानिकों ने बताई कृषि की नई तकनीक
छत्तीसगढ़ के कांकेर में कृषि विज्ञान केंद्र ने तिलहनी फसलों के खेती की नई तकनीक एवं विकास विषय पर कृषि प्रसार अधिकारी, कृषक मिल, कृषि आदान विक्रेताओं एवं कृषकों के लिए 2 दिन का प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया। इस प्रशिक्षण में कांकेर, नरहरपुर एवं दुर्गूकोंदल ब्लॉक के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, कृषक मित्र एवं किसान शामिल हुए। कार्यक्रम में वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ.
बीरबल साहू ने तिलहनी फसलों का महत्व, उत्पादन संभावनाओं की जानकारी दी। समन्वित कृषि प्रणाली अनुसंधान के परियोजना के प्रभारी एवं वैज्ञानिक अनिल कुमार नेताम ने रबी में तिलहनी फसलों के उत्पादन के उन्नत तकनीक से अवगत कराया। कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. कोमलसिंह केराम ने तिलहनी फसलों के लिए मृदा एवं पोषक तत्व की जानकारी दी। दिनेश सिन्हा ने कीट नियंत्रण, डॉ. उपेंद्र नाग ने रोग नियंत्रण, डॉ. सीएल ठाकुर ने खरीफ तिलहनी फसलों के उत्पादन तकनीक, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के वैज्ञानिक डॉ. एके त्रिपाठी ने रामतिल एवं अरंडी फसल के खेती के तकनीक की जानकारी दी। _x000D_ स्रोत – दैनिक भास्कर, 8 जनवरी 2019
0
0
संबंधित लेख