कृषि वार्तादैनिक भास्कर
दुनिया में ऑर्गेनिक फार्मिग की बढ़ती मांग
दुनिया में ऑर्गेनिक फार्मिग की बढ़ती मांग के मद्देनजर गुमला जिला के किसान पहले से ही स्वभाविक रूप से ऑर्गेनिक फार्मिग को व्यवहार में लाते हैं। यही कारण है कि ऑर्गेनिक फार्मिग के मामले में गुमला जिला देश एवं दूसरे राज्यों की तुलना में अव्वल है। कृषि विभाग के आंकड़ों के अनुसार देश में प्रति हेक्टेयर 165 किग्रा उर्वरक का उपयोग किया जाता है। जबकि गुमला में यह आंकड़ा सबसे कम अर्थात मात्र 41 किग्रा प्रति हेक्टेयर उर्वरक का उपयोग किया जाता है। इस प्रकार इस जिले में ऑर्गेनिक खेती की प्रबल संभावना है।
कृषि का सर्वाधिक कार्य मानव केंद्रित है। कुछ वर्षों मेंं कृषि श्रमिकों में भी बढ़ोतरी हुई है। इसका उपयोग ऑर्गेनिक फार्मिग को उद्योग के रूप में अपनाने में किया जा सकता है। ताकि खेती में उर्वरक के उपयोग के प्रचलन को रोकते हुए उसके दुष्प्रभाव से मानव संपदा को बचाया जा सके। इस प्रकार इस जिला में ऑर्गेनिक फार्मिग के साथ कृषि यांत्रिकीकरण की भी काफी संभावना है। इससे इस क्षेत्र के किसानों की आमदनी भी बढेगी और खेती में उत्पादन भी बढ़ेगा। संदर्भ - दैनिक भास्कर, 9 नोव्हेंबर 2018
9
0
संबंधित लेख