कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
कृषि बाजार विकास के लिए जर्मनी और भारत में समझौता
नई दिल्ली। भारत और जर्मनी ने देश में कृषि बाजार विकास में सहयोग के लिए समझौता किया है, दोनों देशों ने संयुक्त संकल्प पत्र पर हस्ताक्षर किये। इस अवसर पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि भारत की प्राथमिकता किसान केंद्रीत हुई है। इसका लक्ष्य कृषि और उससे संबंधित क्षेत्र में उत्पादकता में सुधार, लागत खर्च में कमी, प्रतिस्पर्धी बाजार की उपलब्धता के माध्यम से वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करना है।
संयुक्त संकल्प पत्र पर पर भारत के केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और जर्मनी की कृषि एवं खाद्य मंत्री जुलिया क्लाकनर ने हस्ताक्षर किये। तोमर ने कहा कि कृषि निर्यात नीति का लक्ष्य 2022 तक दोगुना कर छह करोड़ डॉलर करना है। जुलिया क्लाकनर ने इस अवसर पर कहा कि जर्मनी को कृषि यांत्रिकीकरण और फसल तैयार होने के बाद के प्रबंधन में विशेषज्ञता हासिल है, जो किसानों की आय दोगुनी करने में मुख्य भूमिका निभा सकता है। दोनों मंत्रियों ने कृषि यांत्रिकीकरण, फसल तैयार होने के बाद के प्रबंधन तथा कृषि से संबंधित कई अन्य मुद्दों पर चर्चा की। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 1 नवंबर 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
684
0
संबंधित लेख