AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
23 Dec 19, 01:00 PM
कृषि वार्ताएग्रोवन
देश में रबी प्याज की खेती में वृद्धि
पुणे - रबी प्याज को दिसंबर के पहले सप्ताह से प्रमुख उत्पादक राज्यों में 2.7 लाख हेक्टेयर पर लगाया गया है। कृषि मंत्रालय ने पिछले वर्ष की तुलना में 17 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की है।
हालांकि, जनवरी और फरवरी के अंत में खरीफ की आवक में गिरावट आई है। लेट खरीफ को 98 हजार हेक्टेयर क्षेत्रफल पर लगाया गया है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 19 प्रतिशत कम है। इस संयंत्र की उत्पादकता भी प्राकृतिक प्रतिकूलता से बाधित है, और वैकल्पिक रूप से, जनवरी और फरवरी में प्याज की आपूर्ति नियंत्रण में रहने की संभावना है। रबी प्याज की आवक मार्च से बढ़ेगी। उपरोक्त आंकड़े वृद्धि की प्रवृत्ति दर्शाते हैं। 2018 में खरीफ में 48 लाख टन और पछेती खरीफ में 21 लाख टन ऐसे दोनों मिलाकर 69 लाख टन प्याज का उत्पादन हुआ था। यानी 2019 के मुकाबले खरीफ में 39 लाख टन और पछेती खरीफ 15 लाख टन ऐसे दोनों मिलाकर 54 लाख टन उत्पादन होने का अनुमान है। मतलब 2018 के तुलना में अभी 21 प्रतिशत कम होने का अनुमान है। इस गिरावट का प्रतिबिंब हम मौजूदा बाजार में देख रहे हैं। विशेष रूप से 2018 के तुलना में 2019 में बाकि स्टॉक भी काफी कम था। स्रोत – एग्रोवन - 23 दिसंबर 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगती है, तो फोटो के नीचे पीले अंगूठे के आइकन पर क्लिक करें और नीचे दिए गए विकल्प के माध्यम से अपने सभी कृषक मित्रों के साथ साझा करें!
333
1