कृषि वार्ताएग्रोवन
पहली बार समुद्र मार्ग से इंग्लैंड को आम का निर्यात
मुंबई। भारत से पहली बार समुद्र मार्ग से इंग्लैंड को आम का निर्यात किया गया है। साढ़े 14 टन केसर और बादामी आम मुंबई से समुद्र मार्ग द्वारा इंग्लैंड भेजे गए हैं। इसके लिए एक खास आधुनिक तकनीकों की मदद ली गई जो वातावरण को नियंत्रित करके फलों के जीवन दक्षता को बढ़ाते हैं। अब तक, आम का निर्यात केवल हवाई मार्ग द्वारा किया जा रहा था, जिसमें कम समय लगता था। लेकिन अब यह नई तकनीक निर्यातकों को लंबी दूरी तक जल मार्ग द्वारा निर्यात आपूर्ति का विकल्प देगी।
इस सारी प्रक्रिया में आम की गुणवत्ता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। फलों का स्वाद और गुणवत्ता बनी रहती है। फिलहाल इंग्लैंड को गुजरात का केसर और आंध्र प्रदेश का बादामी आम भेजा गया है। बता दें कि हवाई परिवहन की तुलना में, समुद्री शिपिंग की लागत कम है। संदर्भ - अग्रोवन, 23 मई 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
46
0
संबंधित लेख