एग्री डॉक्टर सलाहएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
जानिए, आलू की फसल में मिट्टी चढ़ाने के फायदे!
किसान भाइयों आलू में मिट्टी चढ़ाने का कार्य बुवाई की विधि पर निर्भर करता है। समतल भूमि में की गई बुवाई में 30-40 दिन बाद 1/3 नत्रजन की शेष मात्रा को कुड़ों में पौधे से दूर डालकर मिट्टी चढ़ायें। कंद के खुले रहने पर आलू के कंदो का रंग हरा हो जाता है, इसलिए आवश्यकता एवं समयानुसार कंदो को ढॅंकते रहें। आलू या अन्य कंद वाली फसलों में मिट्टी चढ़ाना एक महत्वपूर्ण क्रिया है, जो की भूमि को भुरभुरा बनाये रखने, खरपतवार नियंत्रण कंदो को हरा होने से रोकने एवं कंदो के विकास में सहायक होते है। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 क्लिक करें।
स्रोत:- एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, यदि आपको आज के सुझाव में दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक करें और अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद।
20
7
संबंधित लेख