सलाहकार लेखकिसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग मध्य प्रदेश
जानिए, चना की बुआई की विधियां!
किसान भाईयों चना की फसल से अधिक उत्पादन प्राप्त करने के लिए बुवाई की विधियों का बहुत योगदान होता है। 👉🏻समुचित नमी में सीडड्रिल से बुआई करें। 👉🏻खेत में नमी कम हो तो बीज को नमी के सम्पर्क में लाने के लिए बुआई गहराई में करें तथा पाटा लगाऐं। 👉🏻पौध संख्या 25 से 30 प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से रख्ेा । 👉🏻पंक्तियों (कूंड़ों) के बीच की दूरी 30 से.मी. तथा पौधे से पौधे की दूरी 10 से.मी. रखे । 👉🏻सिंचित अवस्था में काबुली चने में कूंड़ों के बीच की दूरी 45 से.मी. रखनी चाहिए। 👉🏻पछेती बोनी की अवस्था में कम वृद्धि के कारण उपज में होने वाली क्षति की पूर्ति के लिए सामान्य 👉🏻बीज दर में 20-25 तक बढ़ाकर बोनी करें। 👉🏻देरी से बोनी की अवस्था में पंक्ति से पंक्ति की दूरी घटाकर 25 से.मी. रखें। 👉🏻 खेती तथा खेती सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए कृषि ज्ञान को फॉलो करें। फॉलो करने के लिए अभी क्लिक ulink://android.agrostar.in/publicProfile?userId=558020 करें।
स्रोत:- किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग मध्य प्रदेश, प्रिय किसान भाइयों दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक 👍 करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!
32
1
संबंधित लेख