AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
23 Oct 19, 10:00 AM
अंतरराष्ट्रीय कृषिनोएल फार्म
शितके मशरूम की लकड़ी पर खेती
इस मशरूम को चीनी मशरूम के नाम से भी जाना जाता है। लकड़ीयों में छेद किये जाते है, और फिर मशरूम के बीज को इसमें डाल दिया जाता है। लकड़ी को नम वातावरण में रखा जाता है और फिर, 16 से 18 महीनों के बाद, "हबोदा" नामक खेती के क्षेत्र में स्थानांतरित कर दिया जाता है। फल देने वाले भाग बुवाई के 18 से 24 महीने के भीतर विकसित होता है। शितके मशरूम की कटाई 3-4 साल तक की जा सकती है। स्रोत: नोएल फार्म
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
451
0