कृषि वार्ताएग्रोवन
आयआयटीएम देगा मौसम के दशकों का अंदाज
पुणे - पंचवर्षीय योजना तय करते समय देश की नीतियों और जलवायु परिवर्तन को ध्यान में रखा जाना चाहिए। इसलिए, मौसम विभाग द्वारा दशक के लिए मौसम के पूर्वानुमान प्रदानकिया जायेगा। भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम संस्थान (IITM) द्वारा प्रदान दिए जानेवाले अनुमान केअनुसार दशक में जलवायु परिवर्तन,सम्भवः बदल, वर्षा, तापमान और तापमान के आधार पर नीतियों को निर्धारित करना संभव होगा, ऐसी जानकारी पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम. राजीवन दी है। आयआयटीएम में आयोजित किये गए जलवायु सेवा पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन के बाद राजीवन जी पत्रकारों से बात कर रहे थे।
राजीवन ने कहा, आयआयटीएम द्वारा ने इस सदी के अंत तक मौसम की स्थिति के पूर्वानुमान प्रदान किए हैं। यह सोचा जाता है कि देश का तापमान बढ़ेगा, वर्षा कम होगी या तापमान बढ़ेगा। हालांकि, दशक के लिए पूर्वानुमान अभी और उपयोगी होने जा रहा है। यह अनुमान देने के लिए, यह अनुमान समुद्र के मौसम रिकॉर्ड पर आधारित होगा। ” स्रोत- एग्रोवन, 13 फरवरी 2020 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगती है, तो फोटो के नीचे पीले अंगूठे के आइकन पर क्लिक करें और नीचे दिए गए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी कृषि मित्रों के साथ साझा करें।
31
0
संबंधित लेख