कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
सरकार बजट में उर्वरकों के कच्चे माल के आयात शुल्क में कर सकती है कटौती!
केंद्र सरकार पहली फरवरी को पेश किए जाने वाले आम बजट 2020-21 में उर्वरकों का घरेलू उत्पादन बढ़ाने के लिए कच्चे माल के आयात शुल्क में कटौती कर सकती है। सूत्रों के अनुसार डाई अमोनियम फास्फेट (डीएपी) में उपयोग होने वाले रॉक फास्फेट और सल्फर जैसे कच्चे माल पर आयात शुल्क में कमी करने से घरेलू उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा और आयात बिल में भी कमी आएगी। वर्तमान में इन पर पांच फीसदी आयात शुल्क है।
देश में इस समय कुल जरुरत का करीब 95 फीसदी डीएपी में उपयोग होने वाला कच्चा माल या तैयार उर्वरक का आयात किया जाता है, वहीं यूरिया की कुल जरूरत का करीब 30 फीसदी आयात किया जाता है। वाणिज्य मंत्रालय ने आम बजट में वित्त मंत्रालय से घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने और आयात बिल में कमी लाने को लेकर करीब 300 जिंसों पर मूल सीमा शुल्क को युक्तिसंगत करने का सुझाव दिया है। कृषि मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार बजट में फर्टिलाइजर सब्सिडी की रकम डीबीटी के माध्यम से किसानों के खातों में भेजने का ऐलान भी सकती है। इसके लिए तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 27 जनवरी 2020 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
416
3
संबंधित लेख