कृषि वार्तासकाल
केंद्र सरकार उठाएगी पशुओं के टीकाकरण का खर्च
केंद्र सरकार पशुओं को बीमारी से बचाने के लिए टीकाकरण का पूरा खर्च उठाएगी। केंद्र सरकार ने अगले पांच साल तक मवेशियों की बीमारियों के नियंत्रण का पूरा खर्च उठाने के लिए 13,343 करोड़ रुपये को मंजूरी दे दी। विशेष रूप से पशुओं में खुर पका मुंह पका जैसी बीमारियों (एफएमडी) के उपचार के लिए पहले से मौजूद योजना के तहत इस धनराशि को मंजूरी दी गयी है। सरकार की ओर से 30 करोड़ गाय, भैंस, बैलों के मुंह और खुर से जुड़ी बीमारियों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली राजग सरकार के दूसरे कार्यकाल के दौरान मंत्रिमंडल की पहली बैठक में यह फैसला किया गया। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि टीकाकरण के लिए योजना पहले से मौजूद है, जिसके तहत केंद्र और राज्य सरकारें 60:40 के अनुपात में योगदान देती हैं। केंद्र सरकार ने अब पूरा खर्च उठाने का निर्णय किया है। पशुओं के पैरों यानी खुर और मुख से जुड़ी बीमारियां (एफएमडी) और ब्रुसीलोसिस गायों, बैलों, भैंसों, भेड़, बकरियों एवं सुअरों में होने वाले आम रोग हैं। स्रोत - सकाल 1 जून 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
63
0
संबंधित लेख