Looking for our company website?  
थानों की सूजन के लिए
इस रोग के निदान के लिए रोग के चिन्ह, दूध की जाँच या थानों की जाँच से होता है। दूध की जाँच मैस्टाइटिस डिटेक्शन किट या क्लोराइट टेस्टल केटालेज टेस्ट द्वारा किया जा सकता है।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
13
3
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
29 Mar 20, 06:30 PM
गर्मी में पशु की मावजत
इस लेख में हम जानेगे पशु को गर्मी से कैसे बचाया जा सकता है। शेड में कुछ बदलाव करके: इस रीत में पशु को सीधे सूर्यप्रकाश के सामने लंबे समय तक सलामत रखता है। दिन में...
पशुपालन  |  पशु चिकित्सक
66
6
पशुओं के लिए बहुत बेहतर है, यह प्रोडक्ट।
इसे पशुओं को खिलाने से दूर होती है, खनिज की कमी और सुधरती है दूध और फैट की मात्रा, और अधिक फायदे जानने के लिए यह वीडियो पूरा देखें।
पशुपालन  |  पशु चिकित्सक
607
4
भेड बकरी में रोग फैलने पर
भेड़ और बकरियाँ में भी गायों और भैंसों जैसी कई तरह की बीमारियों देखने को मिलती है, गाय और भैंसो की मात्रा में भेड़ और बकरियों में बीमारी का प्रसार बहुत तेजी से होता...
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
39
3
भेड़ बाकिरियो में होने वाला enterotoxemia रोग
यह रोग क्लोस्ट्रियम नामक जीवाणु से होने वाला एक गंभीर रोग है, यह रोग में पशु दीवार के साथ शर टकराते है, चक्कर आना आदि चिन्ह होता है। इस रोग का उपचार तुरंत करना आवश्यकता...
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
100
2
दूध दोहन के बीच की अवधि
दूध दोहन का बीच का अवधि बारह घंटे रखना आवश्यक है, अगर कोई पशु ज्यादा मात्रा में दूध देता हे तब उनको दिन में तीन बाद दोहन करना चाहिए।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
40
3
अजोला की खेती की जानकारी
• अजोला एक उत्तम पशु आहार • अजोला जल्दी से विकसित होने वाली वनस्पति है। • अजोला सस्ता, पचने में आसान और पौष्टिक होता है। इस में केल्सियम, फोस्फरस और लोह अलावा आवश्यक...
पशुपालन  |  पशु चिकित्सक
404
5
दूध उत्पादन हेतु अजोला चारा
इनका उपयोग पशु के दूध की मात्रा एवं वसा प्रतिशत बढ़ने के लिए किया जा रहा हे। इनके उत्पादन मे कम लागत आती है। अजोला के कारण पशु में 10 से 15 प्रतिशत दूध बढ़ता है।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
152
5
नफाकारी पशुपालन
• पशु को हररोज टुकड़े किये गए चारा ही खिलाये • ठंड, गर्मी और बारिश से बचाने के लिए एक अच्छा शेड बनाएं। • मौसम के अनुसार पर्याप्त, स्वच्छ पानी और पौष्टिक आहार दें।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
99
3
शुरुआती दूध का निकाल
दूध निकालना शुरू करते समय, पहले दूध के धार (फॉर मिल्क )को एक अलग बर्तन में निकालना चाहिए।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
111
1
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
15 Mar 20, 06:30 PM
गर्मी के मौसम में पशुओं का वैज्ञानिक इलाज
• तापमान में परिवर्तन होने से इसका असर पशु पर भी दिखाई दे सकता है। जिससे कई बार जानवर तनाव महसूस करता है। • ज्यादा तापमान के कारण पशु की चबाने की गति कम हो जाती है,...
पशुपालन  |  पशु चिकित्सक
504
5
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
13 Mar 20, 12:00 PM
स्वस्थ दूध उत्पादन के लिए रखे ध्यान
दूध जिन बर्तन में निकालना हे उस बर्तन स्टरनलेस स्टील और चुस्त ठंककन वाला और स्वस्छ होना जरुरी है।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
158
4
दूध दोहन के वक्त रखे ध्यान
दूध दोहन की प्रक्रिया 5 से 7 मिनट के भीतर जल्दी और सहजता से पूरा किया जाना चाहिए। उस वक्त पशु के नजदीक अज्ञात व्यक्ति का आना जाना नहीं होना चाहिए।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
197
11
बीमार जानवर को दूध पिलाते समय रखें ध्यान
बीमार दिखने वाले पशु को अलग आवास में बांधा जाना चाहिए और अंत में दुध निकालना चाहिए। साथ ही, इसे पशु का दूध को स्वस्थ दूध में नहीं मिलाया जाना चाहिए।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
112
9
बकरियों के लिए संतुलित आहार
• बकरियों के खाद्यभोजन उनके शारीरिक अवस्था पर निर्भर करता है। • प्रौढ़ बकरी को 2.5 किलो हरा एवं 400 ग्राम सूखा चारा देना चाहिए। • दूध देने वाली बकरी को हरे चारे...
पशुपालन  |  पशुधन
55
4
समय समय पर मस्टाइटिस की जाँच
मस्टाइटिस की समयांतर जाँच के रूप में स्टिकी कप या अन्य पद्धति से समय समय पर जाँच करनी चाहिए।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
82
7
थन ब्लॉक हो जाना
थन की लंबाई के हिसाब से निम की stick ले, उन पर हल्दी और मखन बनाकर लगाए। इस मलम लगाई हुई स्टिक को घड़ी के कांटे के उलटी दिशा में थनो में डाले इसके कारन ब्लॉक हुए थन खुल...
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
111
11
थनो में पानी भरा जाना
इस स्थिति में तल या सरसो का तेल २०० मिली जितना गर्म करे, इसमें एक मुट्ठी हल्दी और लहसुन के टुकड़े डालिये,धोल को अच्छे से मिक्स करे और उबलने से पहले गैस पर से उतर ले,...
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
99
3
पशुपालन व्यवसाय के लिए आधुनिक मशीनें
• पशुओं को मशीन द्वारा उठाया जाता है। • पशु को नुकसान पहुंचाए बिना मशीन में पशुओं को खड़ा किया जाता है। • नाखूनों को अच्छी तरह से काटकर और साफ किया जाता है। • अधिक...
पशुपालन  |   सार समाचार
682
5
चाफ कटर का प्रयोग
चारे के अपव्यय को रोकने के लिए चारे को दो से तीन सेंटीमीटर के टुकड़ों में काटना चाहिए। इस तरह, कटा हुआ चारा आसानी से जानवर खा सकते हैं और चारे की बर्बादी को रोक सकते हैं।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
250
4
और देखिएं