Looking for our company website?  
चने का बीजोपचार
चने की फसल में उकठा एवं जड़ सड़न रोग से बचाने के लिए थायरम 2 ग्राम + कार्बेन्डाजिम 1 ग्राम प्रति किलोग्राम या ट्राइकोडर्मा 4 ग्राम प्रति किलोग्राम की दर से बीज उपचारित...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
112
0
मिर्च में मकड़ी का नियंत्रण
मिर्च की फसल में मकड़ी कीट के नियंत्रण हेतु प्रोपरगाइट 57 % ई सी @ 400 मिली प्रति एकड़ 200 लीटर पानी या स्पिरोमेसिफेन 22.9% एस.सी.160 मिली प्रति एकड़ 200 लीटर पानी में...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
118
1
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
06 Oct 19, 06:00 AM
टमाटर में मल्चिंग तकनीक
टमाटर फसल की आधुनिक खेती में सिंचाई के लिए ड्रिप पद्धति के साथ-साथ 25 से 30 माइक्रोन मोटाई वाली सिल्वर ब्लैक कलर की प्लास्टिक मल्चिंग शीट का प्रयोग किया जाता है। जिससे...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
119
4
सरसों का बीजोपचार
सरसों की फसल को बीज जनित बीमारियों से बचाने के लिये बीजोपचार आवश्यक है। पत्ती धब्बा रोग एवं पत्ती के निचले सतह पर दिखने वाले सफ़ेद धब्बे से बचाव हेतु मेटालेक्जिल 6 ग्राम...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
180
6
पशुओं को स्वस्थ रखें
खेती के साथ पशुपालन के माध्यम से अधिक लाभ कमाया जा सकता है। पशुओं के लिए आवश्यक चारा खेती से प्राप्त होता है। इसलिए, पशुपालन अधिक लाभदायक है। तो आइए आधुनिक तकनीकों...
पशुपालन  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
393
0
गन्ने का बीजोपचार
गन्ने के बीज जनित रोग व कीटों से बचाव के लिए कार्बेन्डाजिम 2 ग्राम/ लीटर पानी व क्लोरोपायरीफॉस 5 मि.ली./ लीटर की दर से घोल बनाकर बीज को 15 मिनट तक घोल में डुबोकर उपचार...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
74
0
ग्वार में पत्ती धब्बा रोग (एंथ्रेक्नोज) रोकथाम
ग्वार की फसल में पत्ती धब्बा रोग (एंथ्रेक्नोज) की रोकथाम में लिए कारबेंडेज़िम 12% डब्ल्यू.पी.+ मेंकॉज़ेब 63% डब्लू.पी.@ 400  ग्राम प्रति एकड 200 लीटर पानी में घोलकर...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
22
1
खेती के साथ पशुपालन को अपनाएं
खेती के साथ पशुपालन के माध्यम से अधिक लाभ कमाया जा सकता है। पशुओं के लिए आवश्यक चारा खेती से प्राप्त होता है। इसलिए, पशुपालन अधिक लाभदायक है। तो आइए आधुनिक तकनीकों...
पशुपालन  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
495
1
फूल गोभी में डायमंड बैक मोथ का नियंत्रण
फूल गोभी की फसल में डायमंड बैक मॉथ के नियंत्रण हेतु स्पिनोसैड 2.5 % एस सी @ 250 मिली प्रति एकड  200 लीटर पानी मे घोलकर छिडकाव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
60
1
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
01 Oct 19, 06:00 AM
अरंडी में सेमीलूपर एवं तम्बाकू इल्ली का नियंत्रण
अरंडी की फसल में सेमीलूपर एवं तम्बाकू इल्ली के नियंत्रण हेतु इमामेक्टिन बेन्जोएट 5% एस.जी.@ 100 ग्राम प्रति एकड 200 लीटर पानी या क्लोरोन्ट्रेनिलीप्रोल 18.5%एस.सी.@...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
39
1
टमाटर में फल छेदक कीट का नियंत्रण
टमाटर में फल छेदक कीट के नियंत्रण के लिए इमामेक्टिन बेन्जोएट 5% एस.जी. @100 ग्राम प्रति एकड़ 200 लीटर पानी या क्लोरोन्ट्रेनिलीप्रोल 18.5%एस.सी. @60 मिली प्रति एकड़...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
64
0
नींबू में रोग प्रबंधन
नींबू में फाइटोपाथोरा रोग से ग्रसित पौधों पर फोस्टील ए एल 80% डब्ल्यू.पी. @2.5 ग्राम प्रति लीटर पानी में मिलाकर पूरे पेड़ पर छिड़काव करें ताकि वह अच्छी तरह गीला हो जाये।...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
28
0
धान में रस चूसक कीटों का नियंत्रण
धान में रस चूसक कीटों के नियंत्रण के लिए इमिडाक्लोप्रीड 17.8% एस.एल. @5 मिली प्रति 15 लीटर पानी या थायोमिेथॉक्साम 25 % डब्ल्यू.जी. 5 ग्राम प्रति 15 लीटर पानी में घोलकर...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
169
6
मूंगफली में रस चूसक कीटों का नियंत्रण
मूंगफली में रस चूसक कीटों के नियंत्रण के लिए इमिडाक्लोरपिड @40 मि.ली. प्रति एकड़ 200 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
61
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
26 Sep 19, 06:00 AM
कपास में रस चूसक कीटों का नियंत्रण
कपास में रस चूसक कीटों के नियंत्रण के लिए फ्लोनिकामिड 50% डब्ल्यू जी @60 ग्राम प्रति एकड़ 200 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
89
1
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
25 Sep 19, 06:00 AM
खरीफ प्याज में पर्पल ब्लाच की रोकथाम
खरीफ प्याज में पर्पल ब्लाच की रोकथाम के लिए मेंकोजेब 64% + मेटालेक्सिल 4% डब्ल्यू.पी. घुलनशील चूर्ण @400 ग्राम दवा प्रति एकड़ 200 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
53
2
अनार में नेमाटोड की रोकथाम
अनार में नेमाटोड की रोकथाम के लिए पेसियोलोमायसिस लीलासिनस (Paecilomyces lilacinus) 1 लीटर प्रति एकड ड्रिप के द्वारा दीजिए।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
64
3
मिर्च में एन्थ्रेक्नोज की रोकथाम
मिर्च में एन्थ्रेक्नोज का प्रकोप है। इसकी रोकथाम के लिए मेटिराम 55% + पायराक्लोस्ट्रोबिन 5% डब्लू.जी. @ 400 ग्राम प्रति एकड 200 लीटर पानी मे घोलकर छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
76
5
मूँग में सफेद मक्खी का प्रबंधन
मूँग में सफेद मक्खी के नियंत्रण के लिए डायफेनथूरान 50% डब्ल्यू.पी.@ 240 ग्राम प्रति एकड 200 लीटर पानी या एसिटामिप्रिड़ 20% @ 40 ग्राम प्रति एकड 200 लीटर पानी मे घोलकर...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
43
1
धान में पीलापन की रोकथाम
धान में पीलापन पोषकतत्व के कमी के कारण होता है। इसके नियंत्रण के लिए धान की फसल में यूरिया 2 किलोग्राम प्रति एकड 200 लीटर पानी + जिंक सल्फेट 1 किलोग्राम प्रति एकड 200...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
171
4
और देखिए