Looking for our company website?  
पशुओं में अफरा की समस्या
जुगाली करने वाले ( गाय और भैंस) में अफरा की समस्या पाई जाती है। इस रोग के कारण पशु के पेट में ज्यादा गैस बन जाती है। अफरा की समस्या अधिक हो और सही उपचार न मिल तो पशुओं...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
223
0
गाभिन पशु की देखभाल
6-7 महीने के गाभिन पशु को बहार चराने के लिए नहीं ले जाना चाहिए। उसे खड़े और बैठने के लिए पर्याप्त स्थान मिलना चाहिए।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
341
0
स्वस्थ दूध उत्पादन के देखभाल
दुधारू पशु में ज्यादातर संक्रमण दूध दोहन के समय ही होता है। इसलिए जरुरी है की दूध दोहन के समय पशु व् रहेठान, दूध दोहन वाले व्यक्ति, वर्तन व् आसपास के क्षेत्र की साफ़...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
1332
0
चाफ कटर का महत्व
पशुपालन में चाफ कटर का विशेष महत्व है। पशु को कट किया चारा देने से आराम से खा सकते है। मुख्य बात यह है कि chaffcutter का उपयोग से घास की बर्बाद कम होती है। चाफ्टिंग...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
670
0
दूध देने वाले पशुओं की देखभाल
दूध देने वाले पशुओं को प्रतिदिन 70-80 लीटर स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति की जानी चाहिए।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
422
0
पशुपालन के लिए अच्छी नस्ल का चयन करें।
समय आ गया है जब हमें अपनी घरेलू नस्ल के साथ पशुपालन का अभ्यास करना चाहिए। घरेलू नस्लों में विशेष प्रति रोधक क्षमता होती है; इसलिए, हमें अपनी देसी नस्ल की गायों और भैंसों...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
344
0
पशुओं का स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है।
यूरिया डालने के 15-20 दिनों के बाद ही पशु को चारा खिलाएं; यदि पशुओं में विषाक्तता देखी जाती है, तो पशुओं को तुरंत निकटतम पशु चिकित्सक के पास ले जाना चाहिए।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
192
0
पशुओं के पैरो की अच्छे से देखभाल करें।
एक स्थान पर बंधे पशुओं के नाखूनों को समय-समय पर काटा जाना चाहिए लंबे नाखूनों से पशुओं की आवाजाही में दिक्कत हो सकती है। पशु लँगड़ा के चलता है जिससे पशुओं को दर्द होता है।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
302
0
पशु स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है
पशुओं को दूषित पानी से दूर रखने के लिए स्वच्छ और सुरक्षित पेयजल की उचित व्यवस्था करना चाहिए। प्लास्टिक की थैलियों में कचरे को बांध कर न फेंके और प्लास्टिक की थैलियों...
आज का सुझाव  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
173
0
पशु स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है
अपने पशुओं को कीटनाशक छिड़काव वाले चारे को न खिलाएं। चारा देने से पहले चारे को साफ पानी से उचित रूप से धो कर खिलाएं। पशुपालक अपने पशुओं को कारखानों या औद्योगिक क्षेत्रों...
आज का सुझाव  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
105
0
पशुओं को दूषित भोजन से दूर रखें।
जानवरों को कभी-कभी दूषित घास या भोजन,दवाएँ और कीटनाशक खाद्य पदार्थ युक्त के साथ खिलाया जाता है। जिसमें ड्रग्स, यह प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से जानवर के शरीर में...
आज का सुझाव  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
255
1
बारम्बार प्रजनन समस्या
पुन: प्रजनन का मुद्दा मुख्य रूप से उन मवेशियों में होता है जिन्होंने एक या दो बार बच्चे को जन्म दिया है। पशुपालक को इस समस्या पर विशेष ध्यान देना चाहिए। पशु चिकित्सक...
आज का सुझाव  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
243
1
बारम्बार प्रजनन (रिपीट ब्रीडिंग)समस्या
गाय और भैंस के लिए बार-बार प्रजनन एक बड़ी समस्या है। यह समस्या प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से, पशुपालक को आर्थिक नुकशान पहुँचाता है। इसलिए पशुधन के प्रजनन पर पूरा ध्यान...
आज का सुझाव  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
502
0
पशुओं को स्वस्थ रखें
खेती के साथ पशुपालन के माध्यम से अधिक लाभ कमाया जा सकता है। पशुओं के लिए आवश्यक चारा खेती से प्राप्त होता है। इसलिए, पशुपालन अधिक लाभदायक है। तो आइए आधुनिक तकनीकों...
आज का सुझाव  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
415
0
खेती के साथ पशुपालन को अपनाएं
खेती के साथ पशुपालन के माध्यम से अधिक लाभ कमाया जा सकता है। पशुओं के लिए आवश्यक चारा खेती से प्राप्त होता है। इसलिए, पशुपालन अधिक लाभदायक है। तो आइए आधुनिक तकनीकों...
आज का सुझाव  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
592
1
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
06 Aug 19, 06:00 AM
कपास की फसल में मुरझाना रोग (उखेड़ा रोग) का नियंत्रण
पिछले कुछ दिनों से बारिश ना रुकने के कारण कपास की वृद्धि धीमी हो रही है और पत्तियां पीली दिखने लगी हैं। मिट्टी में अधिक नमी होना और जड़ें सक्रिय ना होना इसका कारण हैं।जब...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
509
52