Looking for our company website?  
मूंगफली की फसल में पत्ती खाने वाली इल्ली का नियंत्रण
नीम आधारित सूत्रीकरण @10 मिली (1 ईसी) से 40 मिली(0.15 ईसी) या बुवेरिया बेसियाना, फफूंद-आधारित पाउडर @40 ग्राम प्रति 10 लीटर पानी, और यदि संक्रमण अधिक दिखाता है, तो...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
71
1
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
30 Aug 19, 06:00 AM
बैंगन में फल छेदक कीट के लिए आप कौन से कीटनाशक का छिड़काव करने जा रहे हैं?
क्लोरेंट्रानिलिप्रोएल 18.5% एससी @4 मिली या इमामेक्टिन बेंजोएट 5% डब्ल्यूजी @4 ग्राम या थायोडाइकार्ब 75% डब्ल्यूपी @10 ग्राम या बेटासफ्लुथ्रिन 8.49% + इमिडाक्लोप्रिड...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
59
4
मूंगफली की फसल में बड नेक्रोसिस (कलि ऊतकक्षय बिषाणु रोग) का प्रबंधन
मानसून में देरी और उच्च तापमान से थ्रिप्स की आबादी बढ़ जाती है। लैम्ब्डा साइहेलोथ्रिन 5% ईसी @5 मिली या क्विनालफॉस 25% ईसी @20 मिली प्रति 10 लीटर पानी का छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
51
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
28 Aug 19, 06:00 AM
टमाटर की फसल में फल छेदक को नियंत्रित करने के लिए जैव कीटनाशक
परमाणु पॉलीहेड्रोसिस वायरस (एनपीवी) @ 250 एलई प्रति हेक्टेयर का छिड़काव करें और एनपीवी की प्रभावकारिता बढ़ाने के लिए प्रति पंप 15 ग्राम गुड़ मिलाएं। बाद में, बैसिलस...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
36
1
गन्ने की फसल में मिली बग कीट का नियंत्रण
बुआई के 6 महीने बाद गन्ने की फसल की निचली 4-5 पत्तियों की कटाई करें और मोनोक्रोटोफॉस 36% एसएल @10 मिली प्रति 10 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें या कार्बोफ्यूरॉन 3...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
28
0
मूंगफली की फसल में लीफ माइनर का नियंत्रण
डेल्टामेथ्रिन 2.8% ईसी @10 मिली या लैम्ब्डा साइहेलोथ्रिन 5% ईसी @5 मिली या मिथाइल-ओ-डेमेटोन 25% ईसी @10 मिली या क्विनालफॉस 25% ईसी 20 मिली प्रति 10 लीटर पानी के साथ...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
58
0
पशुओं में खुरपका एवं मुँहपका रोग के प्रकोप के दौरान सावधानियां
पशुओं में यह बिषाणु जनित बीमारी है इसलिए प्रभावित पशुओं के संक्रमण का पता चलते ही उन्हें बाकी मवेशियों से अलग कर दें। और जल्दी ही नजदीकी पशु चिकित्सालय में ले जाकर...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
115
0
धान की फसल में पीला तना छेदक कीट का प्रबंधन
रोपाई के 30-35 दिनों के बाद और 15-20 दिनों के बाद क्लोरेंट्रानिलिप्रोएल 0.4 जीआर @10 किग्रा / हेक्टेयर दें। इससे रस चूसने वाले कीटों को भी नियंत्रित किया जा सकता हैं।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
199
1
मक्का की फसल में सैनिक कीट का रासायनिक नियंत्रण
स्पिनेटोरम 11.7% एससी @10 मिली या क्लोरेंट्रानिलिप्रोएल 18.5% एससी @3 मिली प्रति 10 लीटर पानी के साथ छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
49
0
कपास की फसल में हरा तेला का रासायनिक नियंत्रण
ऐसीफेट 75% एसपी @15 ग्राम या फ्लॉनिकामिड़ 50% डब्ल्यूजी @8 ग्राम प्रति 15 लीटर पानी के साथ छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
174
1
केला में नेमाटोड की रोकथाम
नेमाटोड की रोकथाम के लिए पेसियोलोमायसिस लीलासिनस (Paecilomyces lilacinus)@ 1 लीटर प्रति एकड ड्रिप के द्वारा दीजिये।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
26
0
गन्ना में दीमक का नियंत्रण
गन्ना की खड़ी फसल मे दीमक हो तो क्लोरोपायरीफोस 20 ई.सी.@ 1 लीटर प्रति एकड दवा को 20 किलो रेत या मिट्टी में मिलाकर खेत मे एक समान रूप से छिड़काव कर हल्की सिंचाई करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
53
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
19 Aug 19, 06:00 AM
बैंगन में तना एवं फल छेदक कीट का नियंत्रण
बैंगन में तना एवं फल छेदक कीट के नियंत्रण हेतु इमामेक्टिन बेन्जोएट 5% एस.जी.@ 100 ग्राम प्रति एकड 200 लीटर पानी या क्लोरोन्ट्रेनिलीप्रोल 18.5%एस.सी.@ 60 मिली प्रति...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
76
3
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
18 Aug 19, 06:00 AM
मक्का में तना छेदक का नियंत्रण
मक्का के तना छेदक के नियंत्रण के लिये अंकुरण के 15 दिनों बाद फसल पर क़्वीनॉलफॉस 25 ई.सी. @ 400 मि.ली./एकड 200 लीटर पानी या कार्बोफ्यूरान 3 जी @13 किलो प्रति एकड की दर...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
11
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
17 Aug 19, 06:00 AM
धान में भूरा धब्बा या पर्णचित्ती रोग की रोकथाम
धान में भूरा धब्बा या पर्णचित्ती रोग की रोकथाम के लिए हेक्साकोन्ज़ोल 4% + ज़ीनेब 68% डब्ल्यू पी @ 400 ग्राम प्रति एकड 200 लीटर पानी या प्रोपेनेब 70% डब्ल्यू पी @ 600...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
125
1
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
16 Aug 19, 06:00 AM
टमाटर में अगेती एवं पछेती झुलसा की रोकथाम
पत्तियों पर फफूंद का आक्रमण होने से धब्बों का निर्माण होने लगता है इसलिए इसे झुलसा रोग कहते है। टमाटर में अगेती एवं पछेती झुलसा की रोकथाम के लिए एजोक्सीस्ट्रोबिन 18.2%...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
78
5
उड़द में सफेद मक्खी का प्रबंधन
उड़द में सफेद मक्खी के नियंत्रण के लिए डायफेनथूरान 50% डब्ल्यू.पी. @240 ग्राम प्रति एकड़ 200 लीटर पानी या एसिटामिप्रिड़ 40 ग्राम प्रति एकड़ 200 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
20
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
12 Aug 19, 06:00 AM
कपास में जड़ सड़न रोग की रोकथाम
इस रोग के प्रभाव से कपास की फसल झुलस कर मुरझाती है और दिन प्रतिदिन फसल और भी खराब होती है। इसके नियंत्रण में कॉपर ऑक्सीक्लोराइड 50% डब्ल्यू.पी.@ 2.5 ग्राम प्रति लीटर...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
163
14
मूंगफली में दीमक का नियंत्रण
दीमक मूंगफली के बोये हुए बीजों तथा अंकुरित पौधों की जड़ों को नष्ट कर देती हैं| जिसके कारण पौधे मुरझाकर सूख जाते हैं एवं खींचने पर आसानी से उखड़ जाते हैं। मूंगफली की...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
75
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
10 Aug 19, 06:00 AM
कपास में रस चूसक कीटों का नियंत्रण
कपास में रस चूसक कीटों के नियंत्रण के लिए इमिडाक्लोप्रीड डब्ल्यू.जी. 70% @7 ग्राम प्रति 15 लीटर पानी या फ्लॉनिकामिड 50% डब्ल्यू.जी. @8 ग्राम प्रति 15 लीटर पानी में...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
137
9
और देखिए