AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
19 Apr 19, 06:00 AM
तिल में हॉक मोथ इल्ली
इल्ली को हाथ से तोड़े इसके बाद क्विनॉलफॉस 25 ईसी या क्लोरपायरीफॉस 20 ईसी @ 20 मिली प्रति 10 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
92
20
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
25 Jul 18, 12:00 AM
तिल में पत्ती मोड़नेवाली कीट का नियंत्रण
तिल में पत्ती मोड़नेवाली कीट के नियंत्रण के लिए, डाइक्लोरवोस 76% ईसी @ 7 मि.ली. या क़्विनालफ़ोस 25% ईसी @ 20 मि.ली. या ऐसेफेट 75% एसपी @ 10 ग्राम प्रति 10 लीटर पानी का...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
86
44
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
22 Jul 18, 12:00 AM
लाल और काला कद्दू बीटल्स के बारे में जानिए
लाल और काले कद्दू बीटल्स के लार्वा जड़ों और मिट्टी में तनों को खाते हैं जबकि इसके वयस्क पत्तियों को गिराते हैं।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
83
16
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
31 Mar 18, 12:00 AM
तिल में गाल मिज के कारण नुकसान।
तिल में गाल मिज के कारण होनेवाली नुकसान: संक्रमित फूलों से संपुट नहीं बनते हैं । इसके बजाय, गोल, फैली हुई पीपल के फल जैसी गाँठ दिखाई देती है।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
40
11
बाजरे और तिल रोपण के लिए सुझाव।
बाजरा और तिल बहुत अच्छी लघु अवधि फसल हैं। अंकुरण को बढ़ाने के लिए,जब तापमान 300 C.से अधिक हो तब बोया जाना चाहिए
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
111
24
मूंगफली और तिल के लिए सुझाव।
कृपया मूंगफली और तिल के लिए सुपर फास्फेट की एकल खुराक का उपयोग करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
134
19
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
04 Oct 16, 05:30 AM
तिल की फ़सल में म्लानि रोग काबू करने की व्यवस्था।
तिल की फसल में आम तौर पर म्लानि रोग देखा गया है। इसे काबू में करने के लिए बुवाई के समय कवकनाशी,साफ़@500ग्राम/एकड़ उर्वरक के साथ देना चाहिए।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
132
48