AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
21 Sep 17, 04:00 PM
पपीते के इस चरण में खाद व्यवस्थापन की आवश्यकता है।
पपीत में फलन, पुष्पन और नये पत्ते उभर आने का प्रक्रिया एक साथ होते है, इसलिए उन्हें अधिक उर्वरक खुराक की आवश्यकता होती है। 100 की.ग्रा./ एकड़ ASP (20:20:00:13) + 100...
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
188
26
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
07 Sep 17, 04:00 PM
पपीते में लीफ कर्ल विषाणु
स्थान- महाराष्ट्र विशेषताएं- 1) यह समस्या आमतौर पर गुजरात और महाराष्ट्र में पाइ जाती है। 2) उच्च तापमान के साथ इन लक्षणों में वृद्धि होती है। 3) इस समस्या का ध्यान...
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
177
15
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
30 Aug 17, 04:00 PM
पपीते में जटिल रोग
स्थान - कोडिनार जिला - जूनागढ़ राज्य - गुजरात इस महीने पपीता में कई समस्याएं हैं। यह पपीता एन्थ्राक्नोस और जड़ गलन फफुंद से ग्रस्त है। घुन और थ्रिप्स की संभावनाएं भी हैं।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
107
8
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
30 Jul 17, 12:00 AM
पपीता में स्वस्थ विकास के लिए पोषक तत्व प्रबंधन
पपीता के स्वस्थ और अच्छे विकास के लिए, रोपण के बाद अमोनियम सल्फेट @ 10 ग्राम / पौधा, सिंगल सुपर फॉस्फेट @ 50 ग्राम / पौधा और एमओपी @ 50 ग्राम / पौधा को 4 सप्ताह में...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
249
67
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
04 Jun 17, 05:30 AM
पपीते में जड़ों में गलन से संरक्षण के लिए
पपीते की जड़ मांसल, ज्यादा पानी सोखने वाली और नाज़ुक होती हैं I इसलिए अधिक पानी में वो गलने लगती है और इससे पेड़ की मौत हो जाती है I सावधानी के लिए पपीते के तने पर जमीन...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
191
25
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
21 May 17, 05:30 AM
मानसून से पहले पपीते की खेती में महत्वपूर्ण अभ्यास
अधिकांश पपीते के पौधे लग चुके है,तो मानसून के शुरू होने से पहले, फसल के स्वस्थ और जोरदार विकास के लिए कुछ पद्धति का पालन करना चाहिए जैसे कि: 1. खेत से सारे खरपतवार...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
176
24
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
11 Mar 17, 05:30 AM
पपीते के पौधों की प्राथमिक देखभाल
पपीते के पौधे की रोपाई के बाद अगले दिन पौधों को भिगोना चाहिए, ताकि मृत पौधों की संख्या का नियंत्रण किया जा सके। 500 ग्राम मेटको, 500 मिलीलीटर कासू-बी, 250 ग्राम अरेवा...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
203
20
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
02 Dec 16, 05:30 AM
पपीते में वायरस के नियंत्रण के लिए
पपीते में वायरस के नियंत्रण के लिए चूषक कीट का नियंत्रण करने के बाद डॉ.वी. 5मिलीलीटर प्रति लीटर1सप्ताह के अंतराल में दो बार छिड़कना चाहिए।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
103
22
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
28 Nov 16, 05:30 AM
पपीते में फल का आकार बढाने के लिए
पपीते के फलों की कटाई के समय आकार और गुणवत्ता में सुधार तथा एकसमान परिपक्वता के लिए,घुलनशील उर्वरक13:00:45लगातार@ 5किलो प्रति एकड़ सप्ताह में एक बार दिया जाना चाहिए।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
85
20
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
21 Sep 16, 05:30 AM
पपीते में थ्रिप्स और विषाणु हेतु प्रबंधन
पपीते में यदि विषाणु (वायरस)के लक्षण दिखे,तो जांच करने की ज़रूरत होती है, क्योंकि ये थ्रिप्स का दुष्प्रभाव के कारण हो सकता है। इसके लिए वन अप0.5मिली/ली के हिसाब से स्प्रे...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
72
29
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
01 Sep 16, 05:30 AM
पपीते में तना/जड़ों में गलन के लिए उपाय
पपीते में यदि तना गलन की समस्या हो तो,धानुकोप1किलो,ह्यूमिक पॉवर एडवांस पाउडर95% 500 ग्राम/एकड़ पौधौं के तनों में जमीन के पास भूरकाव करना चाहिए।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
126
57