AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
08 Jun 19, 06:00 PM
जैविक किट नियंत्रक (अग्नियास्त्र)
अग्नियास्त्र फसल में कीट नियंत्रण के लिए एक जैविक उपचार का माध्यम है। इसे कम खर्च में तैयार किया जा सकता है। आइए जानते हैं कि इसे किस तरह से तैयार किया जाता है। जरुरी...
जैविक खेती  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
683
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
01 Jun 19, 06:00 PM
जैविक खेती के फायदे
जैविक खेती का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे आप अपने खेत की मिट्टी की उर्वरा शक्ति को लंबे समय तक संरक्षित कर सकते हैं, जिससे बिना रसायनों के उपयोग से भी लाभदायक खेती...
जैविक खेती  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
557
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
25 May 19, 06:00 PM
अच्छे उत्पादन के लिए जीवामृत की तैयारी
जीवामृत एक किण्वित सूक्ष्मजीव संस्कृति है जो पोषक तत्व प्रदान करता है। साथ ही यह पौधों में फफूंद और बैक्टीरिया से होने वाली बीमारियों को भी रोकता है। जीवामृत कैसे...
जैविक खेती  |  एग्रोवन
619
31
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
18 May 19, 06:00 PM
मिट्टी की उर्वरता बढ़ाएं
• बुवाई के लिए खेत की तैयारी और अंतर-शस्य क्रिया (इंटर-कल्चरल) ठीक से करें। • फसल चक्र के साथ द्विदलीय फसलों का समावेश करें। • एक हेक्टेयर में 5 टन गोबर खाद उपयोग...
जैविक खेती  |  एग्रोवन
445
16
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
11 May 19, 06:00 PM
जैविक उर्वरकों के लाभ
• जैविक उर्वरकों से फसलों की वृद्धि में 8 से 22 प्रतिशत की वृद्धि होती है। • फसलों में नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटाश, सल्फर और अन्य आवश्यक चीजों की अधिक...
जैविक खेती  |  एग्रोवन
495
76
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
04 May 19, 06:00 PM
गोबर खाद का उपयोग
• आंशिक रूप से सड़े हुए गोबर की खाद को आमतौर पर फसलों की बुवाई से 3 से 4 सप्ताह पहले दिया जाना चाहिए। • गोबर की खाद नम मिट्टी में विघटित होती है जिससे मिट्टी की संरचना...
जैविक खेती  |  http://www.soilmanagementindia.com
102
19
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
27 Apr 19, 06:00 PM
फॉस्फोरस घुलनशील बैक्टीरिया के लाभ
इस्तेमाल की विधि: • बीज उपचार के लिए 250 ग्राम PSB के साथ 10 किलोग्राम बीज मिलाएं; और इसे छाया में रखें और सूखने के बाद बुवाई की जा सकती है। • 1 लीटर पानी में 3 से...
जैविक खेती  |  एग्रोवन
308
23
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
20 Apr 19, 06:00 PM
कृषि में हरे खाद का लाभ
हरा खाद एक अविघिटत पदार्थ है जिसे खाद के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। यह दो तरीकों से प्राप्त किया जाता है एक हरे खाद की फसलें उगाकर या बंजर भूमि, खेत की मेड़ और जंगलों...
जैविक खेती  |  एग्रोवन
399
35
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
13 Apr 19, 06:00 PM
फलों के पेड़ों के पास मल्चिंग के लाभ
फलों के पेड़ों में जैविक घटकों की उपलब्धता के लिए और मिट्टी के क्षरण को रोकने, खरपतवारों को नियंत्रित करने साथ ही मिट्टी में पोषक तत्वों को बनाए रखने के लिए फलों के...
जैविक खेती  |  एग्रोवन
357
22
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
06 Apr 19, 06:00 PM
नीम के अर्क को तैयार करने की विधि
• पहले अच्छी तरह से सुखाए हुए नीम के बीज (निंबोली) को खल में या उपकरण का उपयोग करके बारीक चूर्ण बना लें। • फिर बारीक पिसे हुए चूर्ण को 1 किलो तौल कर 10 लीटर साफ पानी...
जैविक खेती  |  एग्रीकल्चर फॉर एवरीबडी
537
89
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
30 Mar 19, 06:00 PM
दशपर्णी अर्क: तैयारी और भंडारण विधि
प्राकृतिक सामग्री का उपयोग करके तैयार किया गया दशपर्णी अर्क सभी प्रकार के कीड़ों और बीमारियों को नियंत्रित करने में बहुत प्रभावी है। यह पौधे की समग्र प्रतिरक्षा को...
जैविक खेती  |  एग्रीकल्चर फॉर एवरीबडी
665
121
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
23 Mar 19, 06:00 PM
(भाग-II) मछली के अवशेष से तैयार किया गया जैविक उर्वरक
मछली अवशेष से जैविक उर्वरक बनाने की तैयारी • 1 किलो मछली, • 1 किलो गुड़ • कंटेनर में मक्खियों के प्रवेश को रोकने के लिए कंटेनर के मुंह पर जूट या सूती कपड़े का टुकड़ा...
जैविक खेती  |  एग्रीकल्चर फॉर एवरीबडी
246
46
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
09 Mar 19, 07:00 PM
(भाग-II) फसलों से लें अधिक पैदावार
भंडारण की विधि • खाद को एक एयर टाइट बाल्टी में रखा जाना चाहिए और एक छायांकित और ठंडी जगह पर रखा जाना चाहिए। संग्रहण अवधि: • खाद को 6 महीने तक संग्रहीत किया जा सकता...
जैविक खेती  |  एग्रीकल्चर फॉर एवरीबडी
473
45
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
23 Feb 19, 07:00 PM
जैविक खेती में पंचगव्य का इस्तेमाल
• पंचगव्य फसलों की वृद्धि और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण है। • पंचगव्य में कई पोषक तत्व होते हैं जैसे- नाइट्रोजन, फास्फोरस, और पोटाश। •...
जैविक खेती  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
635
147