Looking for our company website?  
बछड़े के जन्म के बाद होने वाले महत्वपूर्ण उपाय
बछड़ों के जन्म बाद तुरंत 6 घंटे के अंदर बछड़ों के वजन के अनुसार 10 % खीस दो से तीन हिस्सों में पिलाना चाहिए। खीस बछड़े में रोग प्रतिरोधकता प्रदान करने के लिए अति आवश्यक है।
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
279
0
घातक रेबीज रोग
रेबीज एक घातक वायरल बीमारी है। गाय, भैंस, भेड़ और बकरियों जैसे पशुओं पर रेबीज से संक्रमित कुत्तों या चमगादड़ के काटने से इसका संक्रमण होता है। संक्रमित पशुओं द्वारा...
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
262
0
बछड़े के जन्म के बाद होने वाले महत्वपूर्ण उपाय
ब्यात के बाद नवजात बछड़ों को खीस पिलाना चाहिए। उसके बाद संतुलित एवं स्वच्छ आहार और स्वच्छ पानी की व्यवस्था अति महत्वपूर्ण है। यह बछड़े के भविष्य के विकास पर विचार किया...
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
174
0
राइडिंग टाइप टी हार्वेस्टर के साथ, पत्तियों को तोड़ना आसान
•मेष प्रकार के फोल्डेबल कंटेनर और प्लेट प्रबलित प्रकार के कंटेनर मौजूद हैं। • निश्चित प्लकिंग ऊंचाई एक समान स्तर पर पत्ती को काटने में सक्षम बनाती है। • ब्लेड की...
अंतरराष्ट्रीय कृषि  |  OCHIAI CUTLERY OFFICIAL VIDEO CHANNEL
49
0
स्वस्थ और आकर्षक भिंडी की फसल
किसान का नाम: श्री. जयदीप भाई राज्य: गुजरात सलाह: सूक्ष्म पोषक तत्वों का 20 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
246
35
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
19 Nov 19, 10:00 AM
क्या आप अपनी फसल को कीटों से बचाने के लिए घर पर तैयार जैविक कीटनाशकों का उपयोग करते हैं?
यदि हां, तो ऊपर के पीले अंगूठे के चिन्ह दबाएं।
हाँ या नहीं  |  AgroStar Poll
363
0
अरंडी की फसल में पत्ती खाने वाली इल्ली का प्रकोप
"किसान का नाम: श्री. राम बाबू राज्य: आंध्र प्रदेश सलाह: इमामेक्टिन बेन्जोएट 5% एस.जी.@ 100 ग्राम या क्लोरोन्ट्रेनिलीप्रोल 18.5%एस.सी.@ 60 मिली प्रति एकड 200 लीटर...
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
83
1
पशुओं के लिए हरे चारे के साथ सूखे चारे का मिश्रण
सूखे चारे को हरे चारे के साथ मिलाकर मवेशियों को खिलाना चाहिए, जिससे पोषक तत्वों की प्राप्ति होती है और पाचन में सुधार होता है।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
194
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
17 Nov 19, 06:30 PM
पशुओं में दूध और दूध में वसा प्रतिशत बढ़ाने के लिए। ..
पशुपालक का मुनाफा दूध और दूध के वसा पर निर्भर होता हे। पशुधन में दूध उत्पादन और वसा का प्रतिशत गाय की आनुवंशिक संरचना पर निर्भर करता है। लेकिन पशुपालक पशु से...
पशुपालन  |  कृषि जागरण
281
0
चने की स्वस्थ और आकर्षक फसल
किसान का नाम: श्री. कैलाश जी राज्य: राजस्थान सलाह: चने की फसल 30 दिन की होने पर खुटाई कर पानी लगाएं, सूक्ष्म पोषक तत्वों का 20 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
179
0
केंचुआ खाद तैयार होने की जांच
फसलों की मजबूत वृद्धि और अधिक उत्पादकता के लिए जैविक उर्वरकों का उपयोग फायदेमंद है। रासायनिक उर्वरकों की मर्यादा और जैव उर्वरकों के लाभों को ध्यान में रखते हुए, जैविक...
जैविक खेती  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
199
0
फूल गोभी में पत्ती खाने वाली इल्ली का प्रकोप
किसान का नाम: श्री. अंकुश गुप्ता राज्य: मध्यप्रदेश सलाह: फ्लुबेंडियामाइड 20% डब्ल्यूजी @ 15 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
107
13
हरा चारा पशुपालन के लिए फायदेमंद है
दुधारू पशुओं को हरा चारा खिलाने से दुग्ध उत्पादन को लाभदायक बनाया जा सकता है। हरे चारे को पशुओं द्वारा आसानी से चबाया जा सकता है।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
212
0
गेंदा फसल की उचित वृद्धि
किसान का नाम: श्री. गौरव पटेल राज्य: मध्य प्रदेश सलाह: सूक्ष्म पोषक तत्वों का 20 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
242
22
पशुओं की खुराक में हरे चारे का महत्व
हरा चारा रसदार होता है, पानी की मात्रा ज्यादा होती है और पशु को अच्छा लगता है। हरा चारे में विभिन्न विटामिन - ए कैरोटीन के रूप पशु को मिलते है।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
191
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
15 Nov 19, 10:00 AM
क्या आप जानते हैं?
1. वन अनुसंधान संस्थान (एफआरआई) देहरादून, उत्तराखंड में स्थित है। 2. भारत दुनियाभर में जीरा उत्पादन में पहले स्थान पर है। 3. सैनिक कीट की पहचान 2016 में अफ्रीका...
मजेदार  |  टाईमपास
93
0
पत्ता गोभी की फसल में कवक का संक्रमण
किसान का नाम: श्री. कृष्णा पवार राज्य: मध्य प्रदेश सलाह: मेटालैक्सिल 8 % + मैन्कोजेब 64 % डब्लयूपी @ 30 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
104
7
अरहर की फसल में मिलीबग का प्रकोप
किसान का नाम: श्री. दीपक तडवी राज्य: गुजरात सलाह: प्रोफेनोफॉस 25 मिली प्रति पंप कीटनाशक में अच्छी गुणवत्ता वाले सिलिकोन बेस स्टीकर को मिलाकर छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
247
0
पशुओं में डायरिया या दस्त की समस्या
यह बीमारी विशेष रूप से बछड़ों में ज्यादा देखने को मिलती है, हालांकि प्रत्येक जानवर को यह बीमारी हो सकती है। नियंत्रण हेतु, चूना का नितारा हुआ पानी आधा लीटर, उसमे 10...
आज का सुझाव  |  पशु चिकित्सक
178
0
लहसुन लगाने के लिए आधुनिक यंत्र
• इस आधुनिक यंत्र से लहसुन लगाने के लिए लहसुन की कलियों को अलग कर देना चाहिए। • फिर उनके उगने की शक्ति को बढ़ाने के लिए उन्हें रासायनिक दवा के साथ उपचार करके छाया...
अंतरराष्ट्रीय कृषि  |  Yurii81 Vorobiov
1392
0
और देखिए