Looking for our company website?  
लोबिया, मूंग और उड़द में चित्तीदार फली छेदक इल्ली का प्रबंधन
लोबिया, मूंग और उड़द के खेतों में प्रजनन अवस्था में (फूल आने की अवस्था एवं फल बनने की अवस्था) इसका प्रभाव होता है। आम तौर पर, इन फसलों में चित्तीदार फली छेदक इल्ली का...
गुरु ज्ञान  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
132
0
मूंगफली के अधिकतम उत्पादन के लिए अनुशंसित उर्वरकों की मात्रा दें
किसान का नाम: श्री नितेश भाई गोहेल राज्य: गुजरात सुझाव: प्रति एकड़ 25 किलो 20:20:0:13, 25 किलो पोटाश,8 किलो सल्फर 90% मिट्टी के साथ खेत में भुरकाव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
321
3
हरी खाद उगाकर मिट्टी की उपजाऊ शक्ति को बढ़ाएं
मिट्टी की उपजाऊ शक्ति को बनाये रखने के लिए हरी खाद एक सस्ता और अच्छा विकल्प है। सही समय पर फलीदार पौधे की खड़ी फसल को मिट्टी में ट्रैक्टर से हल चला कर दबा देने की प्रक्रिया...
जैविक खेती  |  Dainik Jagrati
608
0
फसलों में चूहों का प्रभावी नियंत्रण
सब्जियों, तिलहनों, अनाज आदि कई फसलों की प्रारंभिक अवस्था में चूहे फसल को खराब करते हैं। वह मनुष्यों और अन्य जानवरों में सार्वजनिक स्वास्थ्य रोग जैसे प्लेग, लेप्टोस्पायरोसिस...
गुरु ज्ञान  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
222
7
कीट नियंत्रण के लिए नीम अर्क तैयार करने की विधि
नीम का अर्क फसलों के लिए बहुत किफायती कीटनाशक है, जो आमतौर पर कीट नियंत्रण के लिए उपयोग किया जाता है। सभी फसलों जैसे कि सब्जियां, अनाज, फलियां, कपास, और अन्य में इसका...
जैविक खेती  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
432
0
गन्ने की फसल में पायरिल्ला कीट का नियंत्रण
यह कीट बहुत फुर्तीले होते हैं, एक पत्ते से दूसरे पत्ते पर कूदते हैं। जिस क्षेत्र में इनका संक्रमण अधिक होता है वहां जोर से शोर होता है। निम्फ और वयस्क दोनों ही...
गुरु ज्ञान  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
73
4
मशरूम की खेती
भारत में मशरूम के उच्च तकनीक द्वारा उत्पादन शुरू हुआ है और इसे वैश्विक बाजार भी उपलब्ध हो गया है। मधुमेह, रक्तचाप, हृदय रोग वाले लोगों के लिए मशरूम एक अच्छा भोजन है।...
सलाहकार लेख  |  कृषिसमर्पण
305
0
फसलों में मकड़ी का प्रबंधन
मकड़ी गैर-कीट की श्रेणी में आती है। बदलती पर्यावरणीय स्थिति, फसल के स्वरूप में बदलाव आदि मकड़ी की बढ़ती संख्या के कारण हैं। फसलों की क्षति के अलावा, कुछ प्रजातियों को...
गुरु ज्ञान  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
130
0
खेत और बागवानी फसल में कीट और रोग नियंत्रण के लिए पर्यावरण पूरक जाल फसलें
एक छोटे से क्षेत्र में या खेत की फसल में चारों ओर बोई जाने वाली फसल को जाल फसल के रूप में जाना जाता है और इसे मुख्य फसल के रूप में कीड़े-मकोड़े द्वारा पसंद किया जाता...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
172
0
मूंगफली की फसल में पत्ती खाने वाली इल्लियों का नियंत्रण
पत्ती खाने वाली इल्लियों (सुंडी) को 'सैनिक कीट' और तंबाकू की पत्ती खाने वाली इल्ली (सुंडी) के नाम से भी जाना जाता है। गर्म मौसम की स्थिति में इनका संक्रमण अधिक समय...
गुरु ज्ञान  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
214
9
फूलगोभी की फसल में फफूंद का संक्रमण
किसान का नाम - श्री. सरीफ मंडल राज्य - पश्चिम बंगाल उपाय - मेटालैक्जिल 8% + मैनकोजेब 64% डब्ल्यूपी @30 ग्राम प्रति पंप के हिसाब से छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
231
18
एकीकृत कीट प्रबंधन में फेरोमोन जाल का उपयोग
यदि खेत में फेरोमोन जाल का उपयोग किया जाता है, तो नर कीट को मादा कीट की कृत्रिम गंध की ओर आकर्षित किया जा सकता है। विभिन्न कीटों की गंध प्रकृति में बहुत भिन्न होती...
जैविक खेती  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
202
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
06 Jul 19, 06:00 PM
जैव उर्वरक के रूप में ट्राइकोडर्मा विराइड का उपयोग
परिचय: वर्तमान मौसम की शुरुआत में, भारत में हर जगह सब्जियों की बुवाई की जाएगी। मिट्टी के माध्यम से रोगों के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए, पौधों की पौध के लिए मिट्टी...
जैविक खेती  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
138
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
29 Jun 19, 06:30 PM
मिर्च और लहसुन केरोसीन के अर्क द्वारा फसलों में कीट प्रबंधन करें
मिर्च और लहसुन केरोसीन अर्क, वनस्पति कीटनाशक तैयार करने की स्वदेशी तकनीकों में से एक है। यह महत्वपूर्ण लट (सुंडी) कीट जो फसलों को आर्थिक नुकसान पहुंचाते हैं उन पर प्रभावी...
जैविक खेती  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
225
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
29 Jun 19, 06:00 AM
प्रणालीगत और संपर्क कीटनाशकों का चयन
चूसक कीटों के नियंत्रण के लिए प्रणालीगत कीटनाशकों का चयन करके छिड़काव करें जबकि विभिन्न फसलों को कुतरने वाले कीटों के लिए संपर्क कीटनाशक इस्तेमाल करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
395
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
28 Jun 19, 06:00 AM
नींबूवार्गीय पौधों में काले माहू का नियंत्रण
प्राथमिक अवस्था में नीम आधारित सूत्रीकरण का छिड़काव करें और यदि जनसंख्या बढ़ती हुई दिखाई दे, तो डाइमेथोएट 30 ईसी @10 मिली प्रति 10 लीटर पानी का छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
58
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
24 Jun 19, 10:00 AM
(भाग -2) औषधीय फसलों की खेती के बारे में जानकारी- अश्वगंधा
नर्सरी प्रबंधन और रोपाई रोपाई करने से पहले, खेतों की एक बार हल से जुताई करें फिर ताई से मिट्टी के भुरभुरा होने तक दो बार जुताई करें और मिट्टी को पोषक बनाने के लिए जैविक...
सलाहकार लेख  |  अपनी खेती
333
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
17 Jun 19, 10:00 AM
औषधीय फसल-अश्वगंधा की खेती की जानकारी (Part-1)
अश्वगंधा चमत्कारी जड़ी बूटी के रूप में जानी जाती है। इससे बहुत सारी दवाइयां बनाई जा सकती हैं। इसका नाम अश्वगंधा इसलिए है क्योंकि इसकी जड़ें घोड़े की तरह गंध देती है...
सलाहकार लेख  |  अपनी खेती
435
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
15 Jun 19, 06:00 PM
बीजामृत की तैयारी
बीजामृत पौधों, पौध रोपण के लिए एक उपचार है। यह मृदा-जनित और बीज जनित बीमारियों के साथ-साथ कोमल जड़ों को कवक से बचाने में कारगर है जो अक्सर मानसून की अवधि के बाद फसलों...
जैविक खेती  |  श्री सुभाष पालेकर द्वारा जीरो बजट खेती
809
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
12 Jun 19, 06:00 AM
लोबिया और मूंग में फली छेदक का नियंत्रण
इमामेक्टीन बेंजोएट 5 डब्ल्यूजी @5 ग्राम या फ्लूबेंडियामाईड 480 एससी@ 4मिली या क्लोरॉनट्रानिलिप्रोएल 18.5 एससी @ 3 मिली प्रति 10 लीटर पानी में छिड़काव करें।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
110
0
और देखिए