Looking for our company website?  
चना उत्पादन की वैज्ञानिक तकनीक
भारत में चने की खेती मुख्य रूप से मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान तथा बिहार में की जाती है। देश के कुल चना क्षेत्रफल का लगभग 90 प्रतिशत भाग...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
332
0
अदरक के अधिकतम उत्पादन के लिए उचित पोषक तत्वों का प्रबंधन
किसान का नाम - श्री विकास गाडेकर राज्य- महाराष्ट्र सलाह - प्रति एकड़ 19:19:19 @ 3 किलो ड्रिप के माध्यम से दिया जाना चाहिए और सूक्ष्म पोषक तत्वों का 20 ग्राम प्रति...
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
399
34
सुरक्षात्मक खेती में शेड हाउस का महत्व
छाया घर एग्रो जाल या अन्य बुनी हुई सामग्री से बना हुआ ऐसा ढांचा होता है जिसमे खुली जगहों से आवश्यक धूप, नमी व वायु के प्रवेश के द्वार होते है। यह पौधे के विकास के लिये...
सलाहकार लेख  |  https://readandlearn1111.blogspot.com/2017/06/blog-post_16.html
126
0
अनार की फसल में अधिक संख्या में फूल लाने के लिए उचित पोषक तत्वों का प्रबंधन
किसान का नाम - श्री घनश्याम गायकवाड़ राज्य- महाराष्ट्र सलाह - प्रति एकड़ 12:61:0 @ 3 किलो ड्रिप के माध्यम से दिया जाना चाहिए और एमिनो एसिड का 15 मिली प्रति पंप छिड़काव...
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
422
30
हल्दी की फसल में पोषक तत्वों की कमी
किसान का नाम: श्री अंदेम राजेश राज्य: तेलंगाना सलाह: फेरस सल्फेट 19%@ 30 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करें एवं 19:19:19 @ 3 किलोग्राम प्रति एकड़ ड्रिप के माध्यम से दिया...
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
265
17
फ़सलों में सल्फर सूक्ष्म पोषकतत्त्व का महत्व
सल्फर, फ़सलों में उपयोग किए जाने वाले 16 प्रमुख पोषकतत्त्व में से एक है। सल्फर का उपयोग मुख्य रूप से पोषकतत्त्व के अलावा कीटनाशक और कवकनाशी के रूप में किया जाता है। पोषकतत्व...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
350
10
टमाटर की लगातार वृद्धि के लिए पोषक तत्वों का पर्याप्त प्रबंधन
“किसान का नाम: श्री संतोष जी राज्य: महाराष्ट्र सलाह : प्रति एकड़ 13:40:13 @ 3 किलो ड्रिप के माध्यम से दें और सूक्ष्म पोषक तत्व 20 ग्राम पंप का छिड़काव करें।"
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
675
54
टमाटर के अधिक उत्पादन के लिए उर्वरक की अनुशंसित मात्रा दें
किसान का नाम- श्री टिप्पेश राज्य- कर्नाटक सलाह - प्रति एकड़ 13: 0: 45 @3 किलो और 4 दिन बाद कैल्शियम नाइट्रेट @3 किलो ड्रिप के माध्यम से दें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
725
30
चीकू की अच्छी गुणवत्ता के लिए उपयुक्त पोषक तत्वों का प्रबंधन
किसान का नाम - श्री. किशन प्रभात मकवान राज्य - गुजरात सलाह - सूक्ष्म पोषक तत्व @20 ग्राम प्रति पंप के हिसाब से छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
135
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
27 May 19, 10:00 AM
रासायनिक उर्वरकों की दक्षता बढ़ाने के तरीके
● उर्वरकों को कभी भी मिट्टी पर नहीं फेंकना चाहिए। उन्हें केवल तभी लागू किया जाना चाहिए जब मिट्टी में उपयुक्त नमी हो। ● बुवाई के समय उर्वरकों को बीज के नीचे होना चाहिए। ●...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
467
5
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
20 Apr 19, 04:00 PM
आवंला का आकर्षक और स्वस्थ खेत
किसान का नाम - श्री.प्रतीक गावित राज्य - गुजरात सलाह - सूक्ष्म पोषक तत्व 20 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
82
10
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
13 Apr 19, 04:00 PM
लोबिया के खेत में पोषक तत्वों की कमी
किसान का नाम - श्री. भरत राज्य - गुजरात सलाह - प्रति पंप 20 ग्राम सूक्ष्म पोषक तत्व का छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
51
10
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
11 Feb 19, 04:00 PM
उचित पोषकतत्व के प्रबंधन द्वारा गुणवत्तापूर्ण आंवला
किसान का नाम- श्री. जॉबी थॉमस राज्य- केरल सलाह - प्रति पंप 20 ग्राम सूक्ष्म पोषकतत्व का छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
337
22
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
16 Jul 18, 10:00 AM
पोषक तत्वों की एकीकृत व्यवस्था और उनके लाभ
पोषक तत्वों की एकीकृत व्यवस्था का मतलब है, पोषक तत्वों के सभी विभिन्न स्रोतों का उपयोग करके उनकी प्रभावकारिता में वृद्धि करना, जिसमें से पोषक तत्व उपलब्ध कराए जाते...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
196
21
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
01 Jul 18, 12:00 AM
रसायनो के छिड़काव में स्टीकर के उपयोग के लाभ
जब किसी फसल पर कीटनाशक या फफूंद नाशक के घोल में स्टिकर को मिलाएं। यह बारिश में फसल में रसायनों को धुलने से बचाता है और पौधों पर रसायनों को चिपकने में मदद करता है।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
578
117
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
30 Jun 18, 12:00 AM
खरीफ मौसम की फसलों के लिए सल्फर आधारित उर्वरकों के उपयोग के फायदे |
खरीफ सीज़न में सल्फर का उपयोग सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है क्योंकि यह रेजोस्फीयर से अधिक पानी हटाने के लिए अच्छा है। यह फसलों मे सड़ , डम्पिंग और झुलसा जैसे रोगों से...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
258
105
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
23 Apr 18, 10:00 AM
क्षारीय जमीन को सुधारने के लिए क्या उपाय करना चाहिए।
क्षारीय जमीन पर सफेद क्षार की एक सफेद परत बनती है। इस जमीन का पीएच 8.5 से कम होता है। मिट्टी में घुलनशील क्षार की विद्युत वाहकता 4 डेसी साइमन प्रति मीटर से ज्यादा होती...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
39
7
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
16 Apr 18, 10:00 AM
फसलों के लिए आवश्यक सूक्ष्म पोषक तत्व और उनके कार्य
फसलों के समग्र विकास के लिए आवश्यक 50 पीपीएम से कम की मात्रा के पोषक तत्वों को सूक्ष्म पोषक तत्व कहा जाता है। १. जिंक - ऑक्झीन तैयार करने के लिए आवश्यक पोषक तत्व।...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
118
20
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
19 Mar 18, 10:00 AM
वर्मीकम्पोस्ट तैयार करने की विधि
मिट्टी की गुणवत्ता और फसलों के विकास में सुधार लाने के लिए वर्मीकम्पोस्ट बहुत महत्वपूर्ण है। केंचुए का मुख्य कार्य जैविक पदार्थों, धरण और मिट्टी को अच्छी तरह से मिलाकर...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
274
44
अमरूद के पेड़ की छंटाई और खाद व्यवस्था
अमरूद के पेड़ को नियमित रूप से छाँटने की ज़रूरत नहीं है, बल्कि वृक्ष को उचित मोड़ देने के लिए, युवा वृक्षों की छंटाई करना और बढ़ते नए तनों की कटाई फायदेमंद है। एक ही...
सलाहकार लेख  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
69
29
और देखिए