Looking for our company website?  
चने में खाद एवं उर्वरक का उपयोग
चने की अच्छी उपज के लिए खाद एवं उर्वरकों का उपयोग मिट्टी परीक्षण के आधार पर ही किया जाना चाहिए। अच्छी उपज प्राप्त करने के लिए 50 किलोग्राम डीएपी, 15 किलोग्राम म्यूरेट...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
69
0
चने का बीजोपचार
चने की फसल में उकठा एवं जड़ सड़न रोग से बचाने के लिए थायरम 2 ग्राम + कार्बेन्डाजिम 1 ग्राम प्रति किलोग्राम या ट्राइकोडर्मा 4 ग्राम प्रति किलोग्राम की दर से बीज उपचारित...
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
101
0
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
30 Jan 19, 04:00 PM
चने में अच्छे फूल के लिए सूक्ष्मपोषक तत्वों की आवश्यकता
किसान का नाम - श्री. ज्ञानेश्वर वाघोडे राज्य - महाराष्ट्र सलाह - सूक्ष्मपोषक तत्व 20 ग्राम प्रति पंप छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
407
66
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
10 Jan 19, 04:00 PM
विल्ट रोग के संक्रमण के कारण काबुली चने के उत्पादन में कमी
किसान का नाम-श्री विष्णु धाकड़ राज्य - राजस्थान उपाय - 12% कार्बनडेंज्मि + 63% मैन्कोजेब @ 40 gm. प्रति पंप छिड़काव करें
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
333
47
AgroStar Krishi Gyaan
Maharashtra
03 Jan 19, 04:00 PM
चने में अधिक फूल आने के लिए सूक्ष्म पोषक तत्व की आवश्यकता
किसान का नाम - श्री गजानन राज्य - महाराष्ट्र सलाह - प्रति पंप 20 ग्राम सूक्ष्म पोषक तत्व का छिड़काव करें।
आज का फोटो  |  एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
608
123
चने में म्लानि रोग को रोकने के लिए एक जैविक उपाय।
अंकुरण के बाद चने में म्लानि रोग से बचाव के लिए,बुवाई के समय जैव कवकनाशी,ट्राइकोडर्मा और स्यूडोमोनास से इलाज करना चाहिए।
आज का सुझाव  |  AgroStar एग्री-डॉक्टर
26
4