Looking for our company website?  
AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
23 Apr 18, 10:00 AM
सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
क्षारीय जमीन को सुधारने के लिए क्या उपाय करना चाहिए।
क्षारीय जमीन पर सफेद क्षार की एक सफेद परत बनती है। इस जमीन का पीएच 8.5 से कम होता है। मिट्टी में घुलनशील क्षार की विद्युत वाहकता 4 डेसी साइमन प्रति मीटर से ज्यादा होती है। विनिमेय सोडियम की मात्रा 15% से अधिक नहीं होती है। क्षारीय जमीन में सुधार करने के लिए, इसे अच्छी से तैयार करने की जरूरत है और इसमें 1% उतार बनाना चाहिए। उचित दूरी पर उतार से आड़ी दिशा में गड्ढा बनाना चाहिए। जमीन को पर्याप्त पानी देना चाहिए और गड्ढे के माध्यम से खेती में से क्षार को निकालना चाहिए। फसल चक्रिकरण के दौरान, चारा फसलों की खेती करनी चाहिए। फसलें क्षार अप्रभावित होनी चाहिए। सिंचित भूमि को खली नहीं रखना चाहिए अन्यथा इसकी क्षारता बढ़ जाएगी। जमीन पर मल्चिंग का उपयोग करना चाहिए।
क्षारीय जमीन में सुधार करने के लिए, छिद्रित पाइप की निकासी प्रणाली का उपयोग करें। यह मिट्टी में वायु संचार बढ़ाने में मदद करता है। जमीन की बनावट में सुधार होता है। फसल की कार्यक्षम जड़ों की वृद्धि होती है। फसल में अच्छी वृद्धि होती है। जमीन में क्षार जमा होने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है और जमीन कृषि योग्य हो जाती है। एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस, 14 अप्रैल 18
38
1