Looking for our company website?  
AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
24 Sep 19, 01:00 PM
कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
चने की दो नई किस्में विकसित, छह राज्यों के लिए उपयुक्त
नई दिल्ली। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) ने चने की दो नई किस्में विकसित की हैं। आईसीएआर के अनुसार यह किस्में छह राज्यों में खेती के लिए उपयुक्त हैं। आईसीएआर और कर्नाटक के रायचूर स्थित कृषि विज्ञान विश्वविद्यालय ने इंटरनेशनल क्रॉप रिसर्च इंस्टीट्यूट फॉर द सेमी-एरिड ट्रापिक्स के साथ मिलकर, पूसा चना-10216 और सुपर एन्नीगेरी-1 चने के बीज तैयार किए हैं। इनकी बुआई आंध्र प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक, एमपी, महाराष्ट्र और यूपी में की जा सकती है। आईसीएआर के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पूसा चना-10216, सूखे क्षेत्रों में भी अच्छी उपज दे सकता है। इसकी औसत पैदावार 1,447 किलो प्रति हेक्टेयर है। यह 110 दिन में पककर तैयार हो जाती है। इसमें फ्यूजेरियम विल्ट, सूखी जड़ सड़न और स्टंट रोगों के प्रति मध्यम प्रतिरोधी क्षमता है। इसे मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात और उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए उपयुक्त माना गया है। चने की दूसरी नई किस्म सुपर एन्नीगेरी-1, को आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात के लिए उपयुक्त पाया गया है। इसकी औसत उपज 1,898 किलो प्रति हेक्टेयर है। यह किस्म 95 से 110 दिनों में पककर तैयार हो जाती है। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 20 सितंबर 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
263
0