AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
25 May 19, 01:00 PM
कृषि वार्तासकाल
विदेश में भारत के बासमती चावल की भारी मांग
इस साल विदेश में भारत के 1121 किस्म के बासमती चावल की भारी मांग है। विशेष रूप से, ईरान, सऊदी अरब, कुवैत, संयुक्त अरब अमीरात, यूरोप और अमेरिका को इस चावल का निर्यात किया जाता है। पिछले साल भारत से 40 टन बासमती चावल और 88.18 लाख टन गैर-बासमती चावल का निर्यात किया गया था।
भारत से चावल के कुल निर्यात में से 25% चावल केवल ईरान को निर्यात किया जाता है। उनकी वार्षिक खरीद 24.4 टन है। भारत और पाकिस्तान से मुख्य रूप से ईरान को चावल निर्यात किया जाता है। यह निर्यात कच्चे तेल के आदान-प्रदान में किया जाता है। हाल ही में ईरान ने कच्चे तेल के बदले बड़े पैमाने पर भारत से चावल का निर्यात किया। उत्पादन की तुलना में निर्यात बढ़ने से चावल की कीमत में 1000 से 1500 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि हुई है। अंतर्राष्ट्रीय बाजारों के साथ, भारतीय बाजारों में भी रमज़ान के दौरान अम्बे मोहर, लचकरी कोलम, सुरती कोलम जैसे चावल की मांग में वृद्धि देखी जा रही है। मांग की तुलना में आवक कम होने के कारण पिछले महीने चावल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। स्रोत - सकाल, 22 मई 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
46
5