Looking for our company website?  
AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
30 Oct 19, 01:00 PM
कृषि वार्तापुढारी
चीनी कारखानों के लिए निर्यात के हैं बड़े मौके
पुणे। चीन भारत से कच्ची चीनी आयात करने का इच्छुक है, हाल ही में एक चीनी प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में 5,000 टन कच्ची चीनी आयात करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। चीन का एक और दस-सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल 23 नवंबर को दिल्ली में फेडरेशन ऑफ नेशनल को-ऑपरेटिव शुगर फैक्ट्रीज के कार्यालय में आ रहा है। चीन को कम से कम 50 लाख टन कच्ची चीनी की आवश्यकता है, इससे सहकारी और निजी चीनी कारखानों को निर्यात अनुबंधों के लिए एक बड़ा अवसर मिला है। सुगर फेडरेशन के प्रबंध निदेशक प्रकाश नायकनव्रे ने कहा कि चीन को चीनी निर्यात करते समय निर्यात दर वैश्विक बाजार मूल्य पर आधारित होगा। वर्तमान में, यदि कच्ची चीनी का निर्यात किया जाना है, तो इसका भाव कारखानों को प्रति क्विंटल 1950 से 2000 रुपये तक मिलेगा। इसके अलावा, चीनी की लागत बचेगी और बैंकों का ब्याज दर बच जाएगा और लाभ होगा। साथ ही, केंद्र सरकार ने 60 लाख टन चीनी के निर्यात की अनुमति दी है, जिसकी शुरूआत 1 अक्टूबर से हो चुकी है। निर्यात करने के इच्छुक कारखानों को 23 नवंबर को चीन और भारत के चीनी निर्यात समझौते की बैठक में दिल्ली स्थित कार्यालय में भाग लेना चाहिए। स्रोत – पुढारी, 28 अक्टूबर 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
42
0