AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
11 Aug 19, 06:30 PM
पशुपालनhpagrisnet.gov.in
लंगड़ा बुखार (ब्लैक क्वार्टर) के रोकथाम का उपाय
जीवाणुओं से फैलने वाला यह रोग गाय और भैंसों दोनों को होता हैं। इस रोग में पिछली टांगों के ऊपरी भाग में भारी सूजन आ जाती हैं जिससे पशु लंगड़ा कर चलने लगता है या फिर बैठ जाता है। पशु को तेज बुखार हो जाता है तथा सूजन वाले स्थान को दबाने पर कड़-कड़ की आवाज आती है। उपचार तथा रोकथाम- रोगग्रस्त पशु के उपचार के लिए तुरंत नजदीकी पशु चिकित्सालय में संपर्क करना चाहिए ताकि पशु को शीघ्र उचित उपचार मिल सके। देर करने से पशु को बचाना लगभग असंभव हो जाता है क्योंकि जीवाणुओं द्वारा पैदा हुआ जहर (टॉक्सीन) शरीर में पूरी तरह फैल जाता हे, जोकि पशु की मृत्यु का कारण बन जाता है। उपचार के लिए पशु को ऊंची डोज में प्रोकें पेनिसिलीन के टीके लगाए जाते हैं तथा सूजन वाले स्थान पर भी इसी दवा को सुई द्वारा मांस में लगाता जाता है। इस बीमारी से बचाव के लिए पशु चिकित्सक संस्थाओं में रोग निरोधक टीके नि:शुल्क लगाए जाते हैं। अत: पशु पालकों को इस सुविधा का अवश्य लाभ उठाना चाहिए। स्रोत: hpagrisnet.gov.in
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
179
0