AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
27 Dec 18, 10:00 AM
गुरु ज्ञानएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
भिन्डी में कीट नियंत्रण
इस समय ज्यादातर किसानों ने भिन्डी की तोड़ाई शुरू कर दी है। भिन्डी की फसल को प्रभावित करने वाली कीटों के खिलाफ उचित कार्रवाई करके बम्पर उत्पादन की कटाई की जा सकती है। इस फसल को माहू, हरा तेला (जस्सिड), सफ़ेद मक्खी और फल और फली छेदक मुख्य रूप से नुकसान पहुंचाते हैं। एकीकृत कीट व्यवस्था - • खेतों में पीले स्टिक्किंग ट्रैप स्थापित करें। • कीटों की शुरूआत पर, नीम का तेल 50 मि.ली. या लहसुन (500 ग्राम) या नीम आधारित फॉर्मूलेशन @ 10 से 40 मि.ली.या वर्टिसिलियम लैकानी कवक आधारित पाउडर @ 40 ग्राम प्रति 10 लीटर पानी का शाम के दौरान छिड़काव करें। • सफ़ेद मक्खी द्वारा वायरस जन्य पीला शिरा मोज़ेक रोग का प्रसार होता है। समय-समय पर ऐसे संक्रमित पौधों को निकालकर नष्ट कर दें। • चूषक कीटों के नियंत्रण के लिए, इमिडाक्लोप्रिड 70 डब्लूजी @ 2 ग्रा. या थियामेथॉक्सम 25 डब्लूजी @ 3 ग्रा या टोल्फेनपायरॅड 15 ईसी @ 20 मि.ली. या डाईनोटोफुरान 20 एसजी @ 4 ग्रा. या फ्लोनिकैमिड 50 डब्लूजी @ 4 ग्रा. या डायफ़ेन्थिउरोन 50 डब्ल्यूपी 10 ग्रा. या स्पीरोमेसीफेन 240 एससी @ 8 मि.ली. या एसीटामिप्रिड 20 एसपी @ 4 ग्राम प्रति 10 लीटर पानी का छिड़काव करें।
• तना और फली छेदक के नियंत्रण के लिए क्लोरेंट्रानीलीप्रोल 18.5 एससी @ 3 मि.ली या लॅम्डा साइलोथ्रिन 4.9 सीएस @ 5 मि.ली या पाइरिडियल 10 ईसी @ 10 मि.ली या प्यरीप्रोक्सीफेन 5% + फेनप्रोपैथ्रिन 15% ईसी @ 10मि.ली प्रति 10 लीटर पानी छिड़काव करें। • समय-समय पर संक्रमित तनों को काटकर निकाल दें। • भिन्डी की नियमित और समय पर कटाई करें। लार्वा के साथ संक्रमित भिन्डी फलों को नष्ट करें। • इन परभक्षियों का संरक्षण करें जैसे लेडीबर्ड बीटल्स, मकड़ियों और क्रिसोपेला। डॉ. टी.एम. भरपोडा, एंटोमोलॉजी के पूर्व प्रोफेसर, बी ए कालेज ऑफ एग्रीकल्चर, आनंद कृषि विश्वविद्यालय, आनंद- 388 110 (गुजरात भारत)
213
77