AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
30 Jul 19, 01:00 PM
कृषि वार्ताकृषि जागरण
मशरूम की अधिक दिन तक चलने वाली किस्म तैयार की
उत्तर प्रदेश के कानपुर में चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने मशरूम की नई किस्म तैयार की है। यह प्रजाति अधिक दिनों तक टिकाऊ होती है। साथ ही मशरूम में रोग लगने की संभावना नहीं होती है। अगर आपके बच्चे को कुपोषण और वायरल बुखार है तो उससे बचाव के लिए भी यह मशरूम कारगर है। मशरूम की इस प्रजाति पर लगातार चार वर्षों तक शोध हुआ है। मशरूम की प्रजाति पूरी तरह जैविक और सुरक्षित है।
विशेषज्ञों ने मशरूम की इस उन्नत प्रजाति में पौधों से निकलने वाले दो विशेष तरह के हार्मोन के सहारे उसके पौष्टिक और औषधीय गुणों को आसानी से बढ़ा दिया है। मशरूम को गेहूं के भूसे और गन्ने की खोई पर विभिन्न तरह के तापमान और आर्दता देकर उगाया गया है। इस प्रजाति को तैयार होने में मात्र 25 दिनों का वक्त लग रहा है। वैज्ञानिकों को पौधों से निकलने वाले दो हार्मोन इंडोल एसिटिक एसिड और जिबरिलन की मदद से मशरूम की नई प्रजाति में विटामिन, एंटी ऑक्सीडेंट, विभिन्न तरह के एंजाइम और विभिन्न तरह के रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले तत्व बढ़ाने में कामयाबी मिली है। यह तत्व बीमारियों खासतौर से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और वायरस संक्रमण से बचाने में बेहतर साबित हो रहे है। स्रोत – कृषि जागरण, 26 जुलाई 2019 यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
41
0