Looking for our company website?  
AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
16 Apr 18, 10:00 AM
सलाहकार लेखएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
फसलों के लिए आवश्यक सूक्ष्म पोषक तत्व और उनके कार्य
फसलों के समग्र विकास के लिए आवश्यक 50 पीपीएम से कम की मात्रा के पोषक तत्वों को सूक्ष्म पोषक तत्व कहा जाता है। १. जिंक - ऑक्झीन तैयार करने के लिए आवश्यक पोषक तत्व। मुख्य रूप से इंडोल एसेटिक एसिड की तैयारी के लिए मदद करता है। इससे फसलों की वृद्धि तेजी से होती है। प्रोटीन की रचना पूर्ण करने के लिए आवश्यक विकास नियामकों का उत्पादन करता है। फसल में का शर्करा उत्पादन के लिए इस्तेमाल करने की जरूरत है। जिंक स्टार्च और जड़ों की वृद्धि के लिए आवश्यक है। २. फेरस - हरितद्रव्य तैयार करने और हरितद्रव्य के कार्य के लिए आवश्यक है। कुछ विकास नियामकों और प्रोटीन फसलों में आहार उत्पादन और चयापचय के लिए आवश्यक है। यह सहजीवी नाइट्रोजन स्थिरीकरण के लिए आवश्यक है। ३. बोरान - बोरान फसल में शक्कर और स्टार्च को संतुलित करता है। यह शर्करा और कार्बोहाइड्रेट के परिवहन के लिए आवश्यक है। यह परागण और बीज बनाने के लिए आवश्यक है। नियमित कोष विभाजन, नाइट्रोजन चयापचय, नियमित कोष दीवार निर्माण और अंतर फसलों में पानी व्यवस्था के लिए बोरन की आवश्यकता होती है। ४. मैंगनीज - प्रकाश संश्लेषण प्रक्रिया में कार्बन डाइऑक्साइड को शर्करा में परिवर्तित करने में मदद करता है। मैंगनीज हरितद्रव्य तैयार करने और नाइट्रेट एकत्रीकरण में काम करता है। वसा तैयार करने के लिए आवश्यक विकास नियामक की गतिविधि के लिए मैग्नीज की आवश्यकता है।
५. कॉपर - कॉपर प्रकाश संश्लेषण प्रक्रिया और श्वास प्रक्रिया के लिए एक उत्तेजक तंत्र के रूप में काम करता है। अमीनो एसिड को प्रोटीन में परिवर्तित करने वाले विकास नियामकों का एक घटक है। फसल की कोशिकाओं को ताकत और सुरक्षा प्रदान करनेवाले लिग्निन उत्पादन के लिए कॉपर अत्यंत महत्वपूर्ण है। कॉपर फल की टिकाऊ क्षमता, स्वाद और शक्कर की मात्रा को नियंत्रित करता है। ६. मोलिब्डेनम - मोलिब्डेनम फसलों में नाइट्रेट को अमीनो एसिड में परिवर्तित करने का काम करता है। यह सहजीवी नाइट्रोजन स्थिरीकरण के लिए आवश्यक है। एग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
115
4