Looking for our company website?  
AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
06 Oct 19, 06:30 PM
पशुपालनNDDB
पशुधन कैलेंडर : अक्टूबर में ध्यान रखने वाली बातें
• मुँहपका-खुरपका (Foot and Mouth Disease) रोग होने पर पशुओं के शरीर के प्रभावित भाग को लाल दवा (Potassium permanganate) के 1 प्रतिशत घोल से उपचारित करें। • मुँहपका-खुरपका रोग, गलघोंटू (Hemorrhagic Septicaemia), ठप्पा (Black Quarter) रोग, फड़किया (Enterotoxemia) रोग आदि के टीके यदि अभी भी नहीं लगवाए हैं, तो कृपया समय रहते लगवा लें। • परजीवी तथा कृमिनाशक दवा/घोल देने का ये समय उपयुक्त है।
• परजीवीनाशक दवा को बारी-बारी से बदल कर उपयोग में लें। • पशुओं को लवण मिश्रण देते रहें। • इस माह में हरी घास की उपलब्धा बढ़ती है, लेकिन इसकी मात्रा नियंत्रित ही रखें। सूखा चारा और हरा चारा दोनों मिलाकर ही दें। अधिक हरा चारा देने पर दस्त या एसिडोसिस की समस्या हो सकती है। • पिछले माह में भेंड़ के ऊन कतरने का कार्य न किया हो तो इस माह में कर लें। • भेंड़ के शरीर से उन कतरने के 21 दिन बाद बाह्य परजीवीयों से बचने के लिए कीटाणुनाशक घोल से नहलाएं। • इस माह में सर्दी का मौसम शुरू हो जाता है, अतः पशुओं को सर्दी से बचाने के लिए उचित प्रबंधन करें। स्रोत: NDDB यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
196
0