AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
21 May 19, 06:00 AM
आज का सुझावAgroStar एग्री-डॉक्टर
कपास में एकीकृत कीट प्रबंधन
• गर्मियों में गहराई से जुताई करें जिससे कपास की सुंडी को सुप्त अवस्था में नष्ट करने में मदद मिलती है। खेत में फसल अपशिष्ट इक्ट्ठा न करें। इसे जून महीने से पहले ही जला दें। • नीम के बीज इकट्ठा करें और उन्हें नीम का अर्क बनाने के लिए सुखाएं। • मीली बग को नियंत्रित करने के लिए खेत की मेड़ों पर से पार्थेनियम हिस्टेरोफोरस, एब्लेमोसेकस मैनिबोट, वेर्नोनिया एंथेलमिंटिका, धतूरा नाइगर आदि खरपतवारों को हटा दें। • कपास के खेत के चारों ओर मक्का, गेंदा फूल, अरंडी और लोबिया की खेती करें। • कपास के खेत में अंतर फसल के रूप में तुअर, हरे चने, सोयाबीन की खेती करें। यह सुंडी पर प्राकृतिक दुश्मनों की गतिविधि को बढ़ाने में सहायक होगा।
• आपको जैसे ही खेत में सुंडी के अंडे मिले तो खेत में ट्राईकोग्रामा चिलोनिस कीट के अंडे फैलाएं या फिर दूसरी बार 45 वें और 55 वें दिन ऐसा करें। • रस चूसक कीटों को नियंत्रित करने के लिए वर्टिसिलियम लेकानी @ 40 ग्राम / 10 लीटर पानी का छिड़काव करें। • खेत में पक्षियों के लिए T पर्चे स्थापित करें। • खेत में 4 फेरोमोन जाल प्रति एकड़ स्थापित करें और सुंडी की संख्या को मापें ताकि वित्तीय नुकसान का स्तर निर्धारित किया जा सके। संदर्भ - एग्रोस्टार एग्रोनॉमी सेंटर एक्सीलेंस
79
13