Looking for our company website?  
AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
19 Aug 19, 01:00 PM
कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
जुलाई में खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात 26 फीसदी बढ़ा
खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात जुलाई में 26 फीसदी बढ़कर 14,12,001 टन का हुआ है जिसका असर घरेलू बाजार में तिलहन की कीमतों पर भी पड़ रहा है। उत्पादक मंडियों में सरसों के भाव 3,775 से 3,800 रुपये प्रति क्विंटल है जबकि केंद्र सरकार ने सरसों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 4,200 रुपये प्रति क्विंटल तय किया हुआ है। साल्वेंट एक्सट्रेक्टर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (एसईए) के अनुसार जुलाई में खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात बढ़कर 14,12,001 टन का हुआ है जबकि पिछले साल की समान अवधि में इनका आयात 11,19,538 टन का हुआ था। केंद्र सरकार द्वारा पांच महीने पहले मलेशिया से आयातित क्रुड पॉम तेल और आरबीडी पॉमोलीन तेल के आयात शुल्क में अंतर कम होने के कारण रिफाइंड तेल के आयात में भारी बढ़ोतरी हुई है, जिसका असर घरेलू बाजार में तिलहन की कीमतों पर तो पड़ा ही है, साथ ही घरेलू उद्योग पर भी इसका असर पड़ रहा है। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 14 अगस्त 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
42
0