AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
23 Jul 19, 01:00 PM
कृषि वार्ताआउटलुक एग्रीकल्चर
मांग बढ़ने से गेहूं की कीमतों में आई तेजी
गेहूं की मांग बढ़ने से इसकी कीमतों में तेजी आई है। मक्का की कमी होने के कारण पोल्ट्री फीड निर्माता गेहूं की खरीद कर रहे हैं। साथ ही सरकार ने खुले बाजार बिक्री योजना (ओएमएसएस) के तहत गेहूं के बिक्री भाव 55 रुपये बढ़ा दिए हैं, जिससे सप्ताहभर में ही गेहूं की कीमतों में करीब 100 से 125 रुपये की तेजी आ चुकी है। सरकार ने ओएमएसएस के गेहूं के बिक्री भाव जुलाई से सितंबर की अवधि के लिए 55 रुपये बढ़ाकर 2,135 रुपये प्रति क्विंटल कर दिए हैं, जिससे मंडियों में गेहूं के भाव बढ़े हैं। दक्षिण भारत के राज्यों में मक्का का स्टॉक कम है, जिसके कारण मक्का की कीमतें बढ़कर उत्पादक मंडियों में 2,300 से 2,350 रुपये प्रति क्विंटल हो गई हैं। इसीलिए पोल्ट्री फीड निर्माता गेहूं की खरीद कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि चालू खरीफ में भी दक्षिण भारत के प्रमुख उत्पादक राज्यों कर्नाटक, महाराष्ट्र और तेलंगाना में बारिश सामान्य से कम हुई है जिस कारण खरीफ में भी बुआई पीछे चल रही है। वैसे भी खरीफ की मक्का की आवक अक्टूबर के बाद ही मंडियों में बनेगी। स्रोत – आउटलुक एग्रीकल्चर, 19 जुलाई 2019
यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
57
0