AgroStar Krishi Gyaan
Pune, Maharashtra
08 Aug 19, 10:00 AM
गुरु ज्ञानएग्रोस्टार एग्रोनोमी सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस
मूंगफली की फसल में पत्ती खाने वाली इल्लियों का नियंत्रण
पत्ती खाने वाली इल्लियों (सुंडी) को 'सैनिक कीट' और तंबाकू की पत्ती खाने वाली इल्ली (सुंडी) के नाम से भी जाना जाता है। गर्म मौसम की स्थिति में इनका संक्रमण अधिक समय तक बना रहता है। छोटी इल्लीयां पौधों के पत्तों के क्लोरोफिल को खरोंचकर पौधे की कोमल टहनियों जबकि बड़ी इल्लीयां पत्तियों के अंदर बनी कोमल नसों को छोड़कर पूरी पत्तीयों को खा जाती हैं और पत्तियों को खराब कर देती हैं। दिन के दौरान, इल्लियां मिट्टी में छिप जाती हैं और रात में तेज गति से पत्तियों को खाती हैं। वे फूलों पर और कभी-कभी पौधे की बढ़ती कली को भी खाती हैं। फसल पर इल्लियों की संख्या आमतौर पर अगस्त-सितंबर के दौरान अधिक होती है। प्रबंधन: 1. फेरोमोन ट्रैप @1-15/एकड़ स्थापित करना चाहिए। 2. कीट प्रकोप के प्रारंभिक चरण में, नीम के बीज की गिरी का अर्क @500 मिलीलीटर (5%) या नीम आधारित यौगिकों को @40 मिली प्रति 10 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करना चाहिए। 3. बुवेरिया बेसियाना एक फफूंद-आधारित पाउडर @40 ग्राम या बेसिलस थुरिंजेंसिस एक जीवाणु-आधारित पाउडर @10 ग्राम प्रति 10 लीटर पानी के हिसाब से छिड़काव करना चाहिए। 4. परमाणु पॉलीहेड्रोसिस वायरस (एनपीवी) @250 एलई (पत्ती खाने वाले इल्ली के लिए) 450 एलई (चना फल छेदक) प्रति हेक्टेयर के हिसाब से छिड़काव करना चाहिए। 5. पत्ती खाने वाले इल्ली के उच्च संक्रमण पर, मेथोमाइल 50 डब्ल्यूपी @12.5 ग्राम प्रति 10 लीटर पानी का छिड़काव करें। 6. कीटनाशकों की प्रभावकारिता को बढ़ाने के लिए घोल में गुड़ मिलाया जा सकता है।
डॉ. टी.एम. भरपोडा, एंटोमोलॉजी के पूर्व प्रोफेसर, बी ए कालेज ऑफ एग्रीकल्चर, आनंद कृषि विश्वविद्यालय, आनंद- 388 110 (गुजरात भारत) यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगे, तो फोटो के नीचे दिए पीले अंगूठे के निशान पर क्लिक करें और नीचे दिए विकल्पों के माध्यम से अपने सभी किसान मित्रों के साथ साझा करें।
184
8